रेप पीड़ित बच्ची को भर्ती नहीं करने वाला डॉक्टर निलंबित

जबलपुर। मध्यप्रदेश के जबलपुर में 10 वर्षीय बलात्कार पीड़ित बच्ची को अस्पताल में भर्ती करने के बजाय उसे दूसरे अस्पताल भेजने वाले मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सतीश अहिरवार को निलंबित कर दिया गया है।

चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) शरद जैन के निर्देश पर सोमवार को सुभाष चंद्र मेडिकल कॉलेज के डीन नवनीत सक्सेना ने दोषी डॉक्टर के निलंबन आदेश जारी किए।

भेड़ाघाट थानान्तर्गत ग्राम बिनैकी में दो दिन पहले 14 वर्षीय किशोर ने दस वर्षीय बच्ची के साथ दुराचार करने के बाद उसकी जांघ में चाकू के तीन वार किए थे। बच्ची को शाम लगभग पांच बजे उपचार के लिए शासकीय मेडिकल अस्पताल लाया गया था। मेडिकल अस्पताल के सीएमओ डॉ सतीश अहिरवार ने बच्ची को उपचार के लिए भर्ती करने की बजाय उसे एल्गिन महिला अस्पलात भेज दिया था।

बलात्कार पीड़ित बच्ची को उपचार के लिए भटकाए जाने का मामला प्रकाश में आने पर जिला और पुलिस प्रशासन के हस्तक्षेप के बाद एल्गिन अस्पताल में प्रारंभिक उपचार मुहैया करवाया गया। इसके बाद बच्ची को मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती किया गया था।

इस मामले में मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने डॉ अहिरवार को नोटिस जारी कर 24 घंटों में स्पष्टीकरण मांगा था। सोमवार को मंत्री जैन निरीक्षण के लिए मेडिकल अस्पताल पहुंचे। उन्होंने डॉ अहिरवार के स्पष्टीकरण पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्हें निलंबित करने के निर्देश दिए। इसके बाद मेडिकल कॉलेज के डीन ने डॉ अहिरवार के निलंबन के आदेश जारी किए।