जैन संत रूपमुनि महाराज की गंगा झारी का पुष्कर में तर्पण

अजमेर/पुष्कर। शेरे ए राजस्थान जैन संत रूपमुनि महाराज की गंगा झारी सोमवार को तीर्थ नगरी पुष्कर पहुंची। संत भुवनेश मुनि, पुष्कर पालिकाध्यक्ष कमल पाठक ने झारी की वैदिक मंत्रोच्चार के साथ पूजा अर्चना कर दिवंगत महाराज रूपमुनि को जलदान देकर उनकी आत्मा शांति के लिए प्रार्थना की।

इससे पहले पुष्कर पहुंचने पर हरिद्वार से आने वालों की पालिकाध्यक्ष कमल पाठक ने अगवानी की। मारवाड़ बस स्टैंड से गंगा झारी के साथ भुवनेश मुनि सहित जैन समाज के लोग मरुधर केसरी भवन पहुंचे। यहां कुछ देर विश्राम करने के बाद सरोवर के बद्री घाट पहुंचे।

बद्रीघाट पर विधि विधान और पुष्कर सरोवर की पूजा के बाद गंगा झारी की पूजा अर्चना की गई साथ ही तर्पण कर उनकी आत्मा शांति के लिए प्रार्थना की गई। जैतारण गांव के पास नाडोल गांव के पुश्तैनी पुरोहित चांदमल धर्मावत और जैन स्थानक समाज के पुरोहित मोनू रायता ने गंगा झारी की पूजा अर्चना करवाई।