रिश्वत के दो मामलों में मुख्य अग्निशमन अधिकारी सहित तीन अरेस्ट

जयपुर। राजस्थान में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने रिश्वत के दो अलग अलग मामलों में जयपुर नगर निगम ग्रेटर के मुख्य अग्निशमन अधिकारी जगदीश फुलवारी सहित तीन लोगों को आज गिरफ्तार किया।

ब्यूरो के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने बताया कि ब्यूरो की विशेष अनुसंधान इकाई जयपुर ने रिश्वत के मामले में उसके वाहन चालक श्रवण कुमार के माध्यम से परिवादी से 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया।

उन्होंने बताया कि परिवादी ने ब्यूरो में शिकायत दी कि उसकी फर्म द्वारा लगाए गए अग्निशमन उपकरणों के संबंध में एनओसी जारी करने की एवज में फुलवारी एक लाख रुपए की रिश्वत मांग कर उसे परेशान कर रहे हैं।

उन्होंने बताया कि मामले में सत्यापन के बाद चालक श्रवण कुमार को परिवादी से 50 हजार रुपए रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया गया। इस पर इस मामले में फुलवारी को भी गिरफ्तार किया गया। ब्यूरो के उप महानिरीक्षक सवाई सिंह गोदारा के निर्देशन में आरोपी के निवास एवं अन्य ठिकानों की तलाश जारी है।

सोनी ने बताया कि दूसरे मामले में हनुमानगढ़ जिले की नोहर तहसील की मलवानी ग्राम पंचायत में कृषि पर्यवेक्षक दयाराम को पन्द्रह हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बताया कि परिवादी ने ब्यूरो में शिकायत दी कि उसकी डिग्गी निर्माण की फाइल को पास कराने की एवज में कृषि पर्यवेक्षक 40 हजार रूपये की रिश्वत मांग रहा रहा है।

इसके बाद ब्यूरो टीम ने कृषि पर्यवेक्षक को परिवादी से पन्द्रह हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि आरोपी ने शिकायत के सत्यापन के दौरान ही परिवादी से पांच हजार रुपए रिश्वत के रुप में वसूल कर लिए थे। आरोपी के निवास एवं अन्य ठिकानों पर तलाश जारी हैं।