जयपुर मेट्रो के किराये में की कमी, यहां पढें नई सूची

जयपुर। राजस्थान में जयपुर मेट्रो ने एक जुलाई से किराये में कमी की हैं। जयपुर मेट्रो के अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक पवन कुमार गोयल ने शनिवार को बताया कि नई किराया सूची में दो स्टेशन तक यात्रा करने पर टोकन तथा स्मार्ट कार्ड से छह रूपए, 3 से 5 स्टेशन तक टोकन से 11 रूपए एवं स्मार्ट कार्ड से 9.90 रूपए तथा 6 से 8 स्टेशन तक यात्रा करने पर टोकन से 17 रूपए एवं स्मार्ट कार्ड से 15.30 रूपए किराया निर्धारित किया गया है।

गोयल ने बताया कि वर्तमान में पीक ऑवर्स एवं ऑफ पीक ऑवर्स किराया प्रणाली लागू है जिसमें प्रत्येक यात्री को पीक ऑवर्स (शाम को 5 से रात 9.20 बजे तक) के दौरान पांच-छह रूपए अतिरिक्त किराया देना पड़ता था। अब इन पीक ऑवर्स को समाप्त कर दिया गया है, जिससे मेट्रो में पूरे दिन सुबह से रात तक कभी भी यात्रा करने पर साधारण किराया ही लगेगा।

उन्होंने बताया कि यात्री सुविधाओं के मद्देनजर जयपुर मेट्रो ने अपनी नई समय सारणी गत 22 जून से लागू कर दी थी जिसके अनुसार अब सुबह आठ से रात 9.20 बजे तक हर 10 मिनट के अन्तराल में ट्रेनें चल रही है जबकि पूर्व में सुबह 6.25 से शाम 5 बजे तक 15 मिनिट के अंतराल में तथा शाम 5 बजे से रात 9.20 बजे तक 10 मिनिट के अंतराल में मेट्रो ट्रेनें चलती थी।

इस प्रकार पूर्व मेंं चलने वाली 134 ट्रेनों के स्थान पर अब लोगों को 170 ट्रेनों की सेवाएं मिल रही है। नई समय सारणी से यात्रियों को मेट्रो स्टेशनों पर अब इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

गोयल ने बताया कि गत तीन वर्षाें में रोजाना सुबह 6.25 बजे से रात 9.45 बजे तक 134 फेरो के साथ प्रत्येक दिवस होली, दिवाली, राष्ट्रीय अवकाश भी हो, जयपुर मेट्रो बिना रूके एवं थके निर्बाध रूप से यात्री सेवा में समर्पित रही है।

इस अवधि में जयपुर मेट्रो ने 17 हजार घंटों में, एक लाख 47 हजार से 14.2 लाख किलोमीटर दौड़कर 9 स्टेशनों वाले 10 किमी लंबे मानसरोवर से चांदपोल खंड में 227 लाख यात्रियों को 99.9 प्रतिशत समय पालना रिकॉर्ड के साथ शत प्रतिशत संरक्षा, सुरक्षा एवं सुगमता देते हुए अपने गंतव्य तक पंहुचाया है।

गोयल ने बताया कि फीडर सर्विस के रूप में टाटा मैजिक एवं ई-रिक्शा भी जयपुर मेट्रो के स्टेशनों पर जुलाई से उपलब्ध कराए जाएंगे। शुरूआत में चांदपोल स्टेशन के कैचमेन्ट एरिया में रहने वाले नागरिकों के लिए चांदपोल स्टेशन तक आने जाने के लिए जयपुर मेट्रो द्वारा एक सस्ती एवं बेहतर टाटा मैजिक फीडर सर्विस की शुरूआत की जा रही है।

उन्होंने बताया कि मानसरोवर एवं न्यू आतिश मार्केट मेट्रो स्टेशन से जयपुर मेट्रो में रोजाना 5000 से अधिक यात्री चढ़ते है जिन्हें आगे 5-6 किलोमीटर की दूरी से आना जाना रहता है। ऎसे नियमित यात्रियों तथा अन्य महंगे परिवहन के साधनों से यात्रा करने वाले नागरिकों को उनके घर से लाने ले जाने के लिए जुलाई से प्रथम चरण में 20 ई-रिक्शा की फीडर सर्विस भी सस्ती दर पर शुरू की जा रही है।

इसके साथ ही मेट्रो स्टेशनों तक यात्रियों के आने जाने के लिए 15 प्रतिशत कम किराये के साथ एप आधारित जुगनू ऑटो रिक्शा सेवा उपलब्ध है। जयपुर मेट्रो ने यात्रियों को अन्तिम गंतव्य तक लाने ले जाने के लिए चांदपोल, सिंधी कैम्प एवं रेल्वे स्टेशन पर स्मार्ट साईकिल सेवा तथा मानसरोवर एवं मेट्रो रेलवे स्टेशन पर स्मार्ट मोबाईक सेवा भी शुरू की है।

मेट्रो रेल प्रशासन ने मेट्रो रेल यात्रियाें के लिए सभी मेट्रो स्टेशनों यथा मानसरोवर, न्यू आतिश मार्केट विवेक विहार, श्याम नगर, रामनगर, सिविल लाईन्स, रेलवे स्टेशन, सिंधी कैंप एवं चांदपोल पर वाहन पार्किग की सुविधा भी प्रदान की हुई है।

उन्होंने बताया कि मेट्रो स्मार्ट कार्ड को ऑनलाईन रिचार्ज करने की सुविधा भी दी हुई है। जो जयपुर मेट्रो की बेबसाईट पर उपलब्ध है। इससे कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा मिल रहा है। अब तक जयपुर मेट्रो के 74000 स्मार्ट कार्ड यात्री खरीद चुके है। इससे यात्रा करने पर किराये में 10 प्रतिशत की छूट भी मिलती है। कुल यात्रियों में लगभग 20 प्रतिशत यात्री स्मार्ट कार्ड का लाभ उठा रहे है।