जयपुर राजघराने का ढाई आने का डाक टिकट बना आकर्षण

जयपुर। भारतीय डाक विभाग ने जयपुर की पूर्व रियासत के ढाई आने के डाक टिकट सहित कई दुलर्भ डाक-सामग्री बिक्री के लिए जारी की है।

राजस्थान परिमण्डल एवं फिलैटलिक कांग्रेस ऑफ इण्डिया के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय फिलैटलिक संगोष्ठी के अवसर पर आज यहां राजपूताने की पूर्व रियासतों की दुर्लभ डाक-सामग्री एवं हवामहल की पृष्ठभूमि पर आधारित विशेष आवरण जारी किया गया। इसी के साथ एक बुकलेट का भी विमोचन किया गया जिसमें जयपुर की पूर्व रियासत

के ढाई आने का डाक टिकट भी शामिल है। इसे किसी पक्षी पर जारी विश्व का सबसे सुंदरतम टिकट घोषित किया गया है जो हवामहल के माई-स्टैम्प के साथ दर्शाया गया है।

संगोष्ठी में वक्ताओं ने कहा कि इतिहास की घटनाओं को स्मरणीय बनाने तथा महत्वपूर्ण उपलब्धियों के डाक टिकट जारी किए जाते रहे है। डाक टिकट संग्रह करने वाले लोग इनके प्रति आकर्षित होते हैं तथा उनकी अभिरुचि का यह महत्वपूर्ण हिस्सा है।