गहलोत सरकार जल जीवन मिशन को क्यों बना रही राजनीतिक विषय : शेखावत

जयपुर। केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने जल जीवन मिशन की राजस्थान में धीमी रफ्तार को लेकर एक बार फिर गहलोत सरकार पर निशाना साधा है। शेखावत ने सवाल उठाया कि गहलोत सरकार इसे राजनीतिक विषय क्यों बना रही है? नल कनेक्शन को राजनीतिक हानि-लाभ की दृष्टि से क्यों देख रही है? यह स्पष्ट नहीं हो पा रहा।

मैं जनता के मंच पर या मीडिया के माध्यम से अपनी बात उन तक पहुंचाने की कोशिश करता हूं। उन्होंने कहा कि राजस्थानवासी मुझ पर भरोसा रखें, मैं आपको यकीन दिलाता हूं कि रुकावटें लाख आएं, लेकिन मैं राजस्थान में जल जीवन मिशन के काम को पूरा करने में कोई कसर बाकी नहीं रखूंगा।

शुक्रवार को शेखावत ने कहा कि राजस्थान में जल जीवन मिशन के काम की धीमी रफ्तार की ढेरों शिकायतों के बाद मैंने दिल्ली से मिशन के शीर्षस्थ अधिकारियों को राजस्थान भेजा, ताकि राज्य शासन की ओर से उन्हें क्रियान्वयन में आ रही परेशानियों-रुकावटों की जमीनी जानकारी दी जाए, लेकिन राज्य सरकार ने एक बार फिर इतने गंभीर विषय में औपचारिकता दिखाई। राज्य सरकार के जलदाय विभाग के अनुसार राज्य में जल जीवन मिशन का काम अच्छा चल रहा है। मेरा सवाल है कि जब सब अच्छा चल रहा है फिर इतनी शिकायतें कैसे आ रही हैं?

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मेरे मन में जल जीवन मिशन के क्रियान्वयन को लेकर किसी प्रकार का राजनीतिक दुराग्रह नहीं है। पानी के लिए जूझते परिवारों के घर नल से पानी आता देख किसे खुशी नहीं होगी, उसे तो जरूर ही ज्यादा होगी, जो राजस्थान का है और जिसे मरुभूमि की तकलीफें पता है।