70 साल में एक भी मुसलमान के साथ धार्मिक आधार पर नहीं हुआ भेदभाव : शेखावत

जोधपुर। केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने गुरुवार को कहा कि आजादी के बाद 70 सालों में एक भी क्षण ऐसा नहीं आया, जब देश में धर्म के आधार पर दो व्यक्तियों में भेदभाव किया गया हो।

पवित्र कुरान पर हाथ रखकर एक भी मुसलमान ये कह दे कि उसके साथ धार्मिक आधार पर देश की शासन व्यवस्था ने परिवर्तन किया है तो आज जो बोलो मैं करने को तैयार हूं। उन्होंने कहा कि इसके बावजदू मुस्लिम समुदाय के मन में दहशत पैदा करने का काम किया जा रहा है।

लघु उद्योग भारती के कार्यक्रम में नागरिकता संशोधन कानून पर शेखावत ने कहा कि ऐसा कानून, जिसमें केवल नागरिकता देना का प्रावधान है, उसके विषय में भ्रांति फैलाकर कुछ लोगों द्वारा समाज को एकबार फिर मजहब के आधार पर बांटने का काम किया जा रहा है। ये वे लोग हैं, जिनकी राजनीतिक जमीन पैरों के नीचे से खिसकर गई है। उन्होंने कहा कि इस तरह के वीडियो प्रसारित किए जा रहे हैं, जैसे 1947 का दौर आ जाएगा।

उन्होंने जोर देकर कहा कि आज जो हो रहा है, वह हम सबकी कमजोरी है, क्योंकि जो राष्ट्रीय हित के विषय हैं, उन पर हम सब मौन हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि एक जिम्मेदार नागरिक की भांति हम खुलकर राष्ट्रीय विषयों पर बात करें। ये समय की आवश्यकता और मांग है। उन्होंने कहा कि मोबाइल से मिस कॉल करके आप भी इस कानून को अपना समर्थन दें, ताकि भ्रांति फैला रहे लोगों को प्रतिउत्तर दिया जा सके।

उन्होंने कहा कि देश की एक राजनीतिक पार्टी और पाकिस्तान एक ही भाषा बोल रहे हैं। एक ही तरह के शब्द बोल रहे हैं। अनुच्छेद 370 पर पाकिस्तान को यूएनओ से लेकर यूएई तक किसी का साथ नहीं मिला, लेकिन हमारे देश में कुछ लोग उसके साथ खड़े हो जाते हैं।

उन्होंने कहा कि दुनिया में 45 इस्लामिक देश हैं। उनमें से 38 में तीन तलाक गैरकानूनी हैं। लेकिन, जब देश में इसे हटाया गया तो कुछ राजनीतिक दल कहने लगे कि ये शरीया पर हमला है। उन्होंने सवाल किया कि क्या उन 38 देशों में शरीया लागू नहीं है?

शेखावत ने कहा कि सीएए को लेकर मैं दुनिया के किसी भी प्लेफार्म पर डिबेट करने को तैयार हूं। इस विषय को लेकर मैंने अपने जीवन के 25 साल गुजारे हैं। उन्होंने कहा कि आज हम खड़े नहीं हुए तो आगे देश की अखंडता और एकता को खतरा हो सकता है।

केंद्रीय मंत्री ने मेक इन इंडिया के तहत रक्षा क्षेत्र में हो रहे कार्यों का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि देश में आज बड़ी संख्या में हथियार बनाए जा रहे हैं। हमारे वैज्ञानिकों ने कई पेटेंट हासिल किए हैं। लघु उद्योगों की प्रशंसा करते हुए शेखावत ने कहा कि इन उद्योगों ने लाखों लोगों को रोजगार देने का कार्य किया है।

अब तक 5 करोड़ मिस कॉल

शहर के मसूरिया क्षेत्र के लोग गुरुवार को उस वक्त हैरान रह गए, जब उन्होंने केंद्रीय जलशक्ति मंत्री और स्थानीय सांसद गजेंद्र सिंह शेखावत को अपने बीच पाया। कड़ाके की सर्दी के बावजूद शेखावत नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर जनजागरण अभियान में भाग लिया। इस दौरान शेखावत ने गरमा गरम राबड़ी पीकर सर्दी को दूर किया।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के सीएए के समर्थन को लेकर जारी नंबर पर पांच करोड़ लोग मिस कॉल कर चुके हैं।

… जब रिक्शा चालक से कराया मिस कॉल

जनजागरण अभियान के दौरान शेखावत ने एक रिक्शा चालक से अपने सामने ही मिस कॉल भी कराया। उन्होंने बड़ी संख्या में लोगों से मुलाकात की और सीएए के समर्थन में मिस कॉल देने का आह्वान किया।