आमिर खान की फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ का हिन्दू सिख संगठनों ने किया विरोध

जालंधर। बालीवुड अभिनेता आमिर खान की नई फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ का पंजाब के सिनेमा घरों में रिलीज होते ही विरोध शुरू हो गया है।

यहां के एमबीडी माल में गुरुवार को फिल्म के रिलीज होने पर हिंदू और सिख संगठनों ने इसका जमकर विरोध किया। विरोध का कारण वर्ष 2014 में आई उनकी फिल्म पीके रही। विरोध कर रहे संगठनों ने कहा कि पीके फिल्म के कारण हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंची थी। फिल्म में हिंदू धर्म का अपमान किया गया था। इसके बाद हिंदू संगठनों ने आमिर खान बहिष्कार करने को कहा था। लोगों से अपील की गई थी कि जहां भी आमिर खान की फिल्म लगेगी, उसका जमकर विरोध किया जाएगा।

इसी कारण कारण एमबीडी माल में शिवसेना कार्यकर्ताओं और अलग-अलग हिंदू संगठनों के लोगों ने आमिर खान की नई फिल्म का जमकर विरोध किया और फिल्म को बंद करवाने की मांग की। मौके पर पहुंचे डीसीपी नरेश डोगरा ने लोगों को शांत करवाकर सभी कार्यकर्ताओं को आश्वसवासन दिलाकर वहां से वापस भेजा।

हिंदू संगठनों और शिवसेना कार्यकर्ताओं ने पुलिस को 15 अगस्त तक का अल्टीमेटम दिया है। उन्होंने पुलिस को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर 15 अगस्त तक आमिर खान और सेसंर बोर्ड और पीके फिल्म से जुड़े लोगों पर कार्रवाई न की तो 16 अगस्त को सड़कों पर उतरकर प्रशासन और आमिर खान के खिलाफ प्रदर्शन किया जाएगा।

फिल्म लाल सिंह चड्ढा को लेकर सिख संगठनों की आपत्तियों के बाद लगभग एक सप्ताह पहले अभिनेता आमिर खान जालंधर आए थे। उन्होंने क्यूरो माल में सिख संगठनों के सदस्यों को फिल्म दिखाकर उनकी शंकाएं दूर करने का प्रयास किया था। फिल्म देखने वालों में एसजीपीसी की पूर्व अध्यक्ष जागीर कौर भी शामिल थीं। सिख संगठन तो शांत हो गए लेकिन आमिर खान के प्रयास के बावजूद जालंधर में शिव सैनिकों और हिंदू नेताओं का गुस्सा शांत नहीं हो पाया।

हिंदू संगठनों का कहना है कि आमिर खान ने पीके फिल्म में हिंदू देवी-देवताओं का अपमान किया था। उस वक्त ही हिंदू संगठनों ने फैसला ले लिया था कि आमिर खान की कोई भी फिल्म सिनेमाघरों में नहीं लगने देंगे। एमबीडी माल के बाहर प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने पहले ही सुरक्षा बढ़ा रखी थी और किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना को रोकने के लिए एमबीडी माल के बाहर पुलिस फोर्स तैनात कर रखी थी। विरोध के बाद सिनेमा हाल से फिल्म को हटा दिया गया।

एमबीडी माल मे घुसे हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं और उनके विरोध को देखते हुए पीवीआर के प्रबंधकों ने तुरंत प्रभाव से फिल्म को हटाने का निर्णय लिया। जो शो चल रहा था, उसमें करीब 12 लोग बैठे हुए थे। उन्हें भी हिंदू संगठनों के लोगों ने बाहर निकाल दिया। संगठनों के नेताओं ने मांग की है कि पुलिस आमिर खान के खिलाफ हिंदुओं और सिखों की भावनाओं को आहत करने के लिए मामला भी दर्ज करे। मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारियों ने आश्वासन दिया कि आमिर खान के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया जाएगा। हिंदू नेताओं ने कहा कि 15 अगस्त से पहले मामला दर्ज न हुआ तो वह सीपी आफिस के बाहर धरना देंगे।