जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में स्कूल पर हमला, दो शिक्षकों की हत्या

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर के पुराने शहर के एक स्कूल पर हमला करके अज्ञात हमलावरों ने अल्पसंख्यक समुदाय से ताल्लुक रखने वाली एक महिला समेत दो शिक्षकों की हत्या कर दी।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि अज्ञात गनमैन ने शहर के इलाके ईदगाह में संगम के सरकारी उच्च माध्यमिक विद्यालय में घुसकर ताबड़तोड़ गोलियां चलानी शुरू कर दीं, जिसमें शिक्षक दीपक चंद और सतिंदर कौर की मौत हो गई।

घायलों को उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां पर दोनों को मृत घोषित कर दिया गया। पूरे इलाके को घेर लिया गया है और हमलावरों की धरपकड़ के लिए अभियान शुरू कर दिया गया है।

पिछले तीन दिनों के दौरान कश्मीर घाटी में निर्दोष व्यक्तियों पर हमले की यह चौथी घटना है। पांच अक्टूबर को श्रीनगर और बांदीपोरा में अज्ञात हमलावरों ने एक बिहार के निवासी, एक कश्मीरी मुस्लिम और एक कश्मीरी पंडित व्यवसायी एमएल बिंदरू की हत्या की थी।

मनोज सिन्हा ने की शिक्षकों की हत्या की कड़ी निंदा

जम्मू-कश्मीर के उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा ने श्रीनगर के एक स्कूल में गुरुवार को दो अध्यापकों की आंतकवादियों द्वारा की हत्या की कड़ी भर्त्सना की है और कहा है कि केन्द्रशासित क्षेत्र में निर्दोष व्यक्तियों पर जघन्य हमला करने वालों को मुंह तोड़ जवाब दिया जाएगा।

सिन्हा ने कहा कि आंतकवादी और उनके संरक्षक जम्मू-कश्मीर में शांति और समृद्धि का वातावरण बिगाड़ने के अपने घिनौने इरादों में कामयाब नहीं होंगे।

जम्मू-कश्मीर के उप-राज्यपाल के कार्यालय के ट्विटर हैंडल से जारी संदेश में सिन्हा ने कहा कि मैं शिक्षक सुपिंदर कौर और दीपक चंद की आतंकवादियों द्वारा बर्बर हत्या की कड़ी निंदा करता हूं। निर्दोष लोगों पर जघन्य आंतकवादी हमले करने वालों को मुंह तोड़ जवाब दिया जाएगा।

सिन्हा ने कहा कि आंतकवादी और उनके आका केन्द्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में शांति प्रगति और समृद्धि में खलल डालने में अपने मंसूबों में कामयाब नहीं होंगे। उप-राज्यपाल ने हमले में मारी गईं प्रधानाध्यापिका कौर और शिक्षक दीपक चंद के परिजनों, मित्रों और सहयोगियों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।