ईस्ट बंगाल को हराकर प्लेऑफ के आसार मजबूत करना चाहेगा जमशेदपुर

Jamshedpur would like to strengthen the chances of playoffs by defeating East Bengal
Jamshedpur would like to strengthen the chances of playoffs by defeating East Bengal

फातोरदा। रविवार को जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में होने वाले हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के अपने 16वें मुकाबले में जमशेदपुर एफसी खेलने उतरेगी तो उसके जेहन में सिर्फ एससी ईस्ट बंगाल के खिलाफ जीत ही होगी। जमशेदपुर और उसके मुख्य कोच ओवेन कायले के लिए यह समीकरण बहुत सरल है। वे दो सम्भावित प्लेऑफ स्थानों से चार अंक दूर हैं और इस गैप को भरने के लिए उनके पास पांच मैचों का मौका है।

जमशेदपुर की टीम अच्छा कर रही थी लेकिन पांच मैचों में जीत नहीं मिल पाने के कारण उसका प्लेऑफ का अभियान थमता सा दिखा। अपने पिछले मैच में ओडिशा एफसी पर मिली जीत के साथ जमशेदपुर ने इस नुकसान की भरपाई की और मुख्यधारा में लौटी।

कोच कायले मानते हैं कि अगर उनकी टीम को टॉप-4 में रहना है और प्लेऑफ खेलना है तो उसे जीत का लय बनाए रखना होगा। उन्होंने कहा, हमारे खिलाड़ियों ने खूब मेहनत की है। अब उन्हें एक बार में एक मैच के बारे में सोचना होगा और मैच जीतने के लिए सकारात्मक बने रहना होगा। हमें यही करना होगा।

कायले इस बात को लेकर खुश होंगे कि उन्हें डिफेंस को लेकर कोई चिंता करने की जरूरत नहीं क्योंकि इस सीजन में उनकी टीम का डिफेंस काफी मजबूत रहा है। इस टीम ने अब तक इस सीजन में तीन लगातार क्लीन शीट हासिल किए हैं। इससे पहले के तीन मैचों में हालांकि इस टीम को आठ गोल खाने पड़े थे।

डिफेंस तो ठीक है लेकिन इस टीम के अटैक को मेहनत करनी होगी। ओडिशा के खिलाफ जिस गोल से जमशेदपुर को जीत मिली थी, वह चार मैचों के बाद ओपन प्ले से उसका पहला गोल था। पिछली बार जब दोनों टीमें भिड़ी थीं तब ईस्ट बंगाल ने 24वें मिनट से ही 10 खिलाड़ियों के साथ खेलते हुए जमशेदपुर को गोल करने का मौका नहीं दिया था और वह मुकाबला गोलरहित बराबरी पर छूटा था।

अब हालांकि ईस्ट बंगाल के लिए हालात बदल चुके हैं। यह टीम मुश्किल में है। रविवार को अगर उसे हार मिलती है तो उसके प्लेऑफ में जाने की उम्मीदें लगभग समाप्त हो जाएंगी। यह टीम पांच मैचों से जीत नहीं हासिल कर सकी है। साथ ही यह अपने बीते चार मैचों में से तीन में गोल नहीं कर सकी है।

साथ ही साथ उसके मुख्य कोच रॉबी फॉलर भी निलंबित हैं और वह अगले मैच में भी टीम के साथ नहीं होंगे। उनकी गैरमौजूदगी में हालांकि सहायक कोच टोनी ग्रैंट ने अपनी टीम को अच्छे से सम्भाला है। ग्रैंट ने कहा, मुझे नहीं लगता कि यह पिच पर कठिन है। जब आप सब कुछ का विश्लेषण करते हैं, तो पता चलता है कि टीम को आईएसएल में अंतिम समय में जगह मिली थी। हमारे पास दो सप्ताह का ही प्री-सीजन था। मुझे लगता है कि इन सबके बावजूद टीम ने जबरदस्त प्रदर्शन किया है।

ग्रैंट ने कहा, हम केरल से एक अंक पीछे हैं। केरल कई सालों से लीग में है। हमने अब तक जिस तरह का प्रदर्शन किया है और साहस दिखाया है उसके लिए सभी कर्मचारी और सभी खिलाड़ी श्रेय के हकदार हैं।