कांग्रेस अब लोकतांत्रिक नहीं,केवल एक परिवार का पालन करने वाली पार्टी : भूपेंद्र यादव

Verified Apps to watch T20 World Cup 2022 Live Stream

जयपुर। केंद्रीय श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव ने जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान जयपुर के बिरला सभागार में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस और गांधी परिवार पर जमकर जुबानी हमलने किए।

यादव ने कहा कि कांग्रेस अब लोकतांत्रिक पार्टी नहीं रही। वह केवल एक परिवार का पालन करने वाली पार्टी रह गई है। हमारी पार्टी इसलिए चल रही है क्योंकि यहां आंतरिक लोकतंत्र है। कांग्रेस ने 50 साल तक राज किया, देश के हर वर्ग को वोटबैंक बना दिया और किसी को कुछ नहीं दिया। कांग्रेस ने किसी को कुछ दिया तो केवल एक परिवार को दिया। बाकी को उनकी खिदमत का काम सौंपा। राजनीति में हम इसलिए आए कि परिवार और वंश का स्थान नहीं है।

यादव ने कहा कि हम राजस्थान में बहुत थोड़े वोटों से सरकार नहीं बना पाए। इसका नुकसान राजस्थान की जनता को हुआ। हम यहां से संकल्प लेकर जाएं कि 2023 में तीन चौथाई बहुमत से राजस्थान में सरकार बनेगी। मैनें भिवाडी में भी कहा और यहां भी कह रहा हूं कि फिर से कमल खिलाकर सुशासन लाएंगे और वह लंबे समय के लिए लाएंगे।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस की मौजूदा सरकार के कारण राजस्थान पीछे छूटा है, उसकी भरपाई करनी है। सबके मन में सवाल है कि जनआशीर्वाद यात्रा क्यों? इसका उत्तर है कि कोई भी सरकार या पार्टी सत्त्ता में आए, हम सबसे पहले जनता के सेवक हैं, इसलिए जनता का आशीर्वाद मांगने आए हैं, भाजपा जैसी लोकतांत्रिक पार्टी ही ऐसा कर सकती है।

यादव ने कहा कि संसदीय लोकतंत्र की मर्यादा का पालन होना चाहिए। आप बताएं कि टेबल लिखने के काम आती है या डांस करने के काम में आती है। किताब पढ़ने के काम आती है या फेंकने के लिए। संसदीय मर्यादा को तार—तार किया जा रहा है। स्पीकर के सामने किताबों को फेंका जाए, इससे शर्मनाक लोकतंत्र का काला दिन इतिहास में नहीं हो सकता है। यह उन लोगों ने किया है जिन्होंने इमरजेंसी लगाई हिम्मत है तो कांग्रेस के लोग कहे कि उनके सांसदों ने जो किया, वो सही किया।

पेगासस मामले में संसद में हुए हंगामे और विपक्ष के अमर्यादित व्यवहार पर यादव ने कहा कि लोकतंत्र को बंधक और गिरवी बनाकर नहीं रखा जा सकता। कांग्रेस के लोग सही बात करना चाहते हैं तो वैचारिक रूप और तर्क के साथ आएं। लेकिन पीएम मंत्रिमंडल का परिचय कराए और संसद को नहीं चलने दिया जाए। इतनी भी मर्यादा नहीं रखी।

भाजपा के प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह ने कहा- राजस्थान की स्थिति ठीक नहीं है। सीएम अशोक गहलोत घर से नहीं निकल रहे। गहलोत कहते हैं कि कोरोना का प्रोटोकॉल टूट जाएगा। जब यूपी के सीएम बाहर निकल सकते हैं तो आपको घर से बाहर निकलने में क्या दिक्कत है? आपको पता है कि मंत्रिमंडल विस्तार हुआ नहीं कि सरकार खतरे में आ जाएगी। उनको यह मालूम है कि घर से नहीं निकलो, यह उनकी आखिरी पारी है। अगली बार भाजपा आने वाली है। किसानों की समस्या बढती जा रही है, जंगलराज हो गया है। हम संघर्ष करेंगे और गहलोत सरकार को उखाड फेकेंगे।

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि जनता यह उम्मीद करती है कि ईमानदारी से सेवा करें। जनता ने हमा पर विश्वास किया है। हम उस पर सौ प्रतिशत खरा उतरेंगे। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ.सतीश पूनिया ने कहा- कांग्रेस ने देश की साख को गिराया। देश में भ्रष्टाचार और अराजकता की स्थिति बनी। भाजपा और कांग्रेस में बहुत फर्क है। ढाई साल का राजस्थान में कांग्रेस का राज इतिहास में दर्ज हो गया। भ्रष्टाचार बढ़ा और किसान कर्जामाफी और बेरोजगारों के साथ ठगी हुई। कानून व्यवस्था बिगड़ चुकी है।