कृषि कानूनों के खिलाफ कहीं कोई विरोध देखने को नहीं मिला : भूपेन्द्र यादव

अजमेर। केंद्रीय श्रम, रोजगार तथा वन एवं पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने उनकी मोदी सरकार के नए कृषि कानूनों को किसानों के हित में बताते हुए कहा है कि उन्हें जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान इन कानूनों के खिलाफ कहीं कोई विरोध देखने को नहीं मिला हैं जबकि कांग्रेस एवं विपक्षी दल विरोध कर किसानों को भ्रमित कर रहे हैं।

यादव ने यात्रा के बाद प्रेस वार्ता में देश में चल रहे किसान आंदोलन के सवाल पर आज यह बात कही। उन्होंने कहा कि वह अपनी यात्रा हरियाणा में किसानों के बीच से ही लेकर अजमेर तक आए हैं। उन्हें कहीं कोई विरोध देखने को नहीं मिला।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के कृषि कानून संशोधन किसानों के हित में है। इसके जरिए किसानों को अपनी फसल के लिए ज्यादा दायरा मिल रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और विपक्षी दल जो विरोध कर रहे है वे किसानों को भ्रमित करने के लिए है। उन्होंने कहा कि नए कानून किसी भी स्थिति में कृषि उपज मंडी को समाप्त करने के लिए नहीं है।

यादव ने राजस्थान सरकार को लेकर कहा कि इसकी हालत चिंताजनक है। यहां फिल्म किस्सा कुर्सी का चल रही है। कभी गहलोत पर पायलट भारी दिखाई देते है तो कभी पायलट पर गहलोत भारी नजर आते हैं। यहां भ्रष्टाचार, अत्याचार और अनियमितता मुंह उठा रही है। राजस्थान सरकार स्वयं षड्यंत्र का शिकार हैं। कभी होटल में बंद रहती है तो कभी घर में।

उन्होंने दावा किया कि वर्ष 2023 में कांग्रेस सरकार की राज्य से विदाई तय है और जन आशीर्वाद यात्रा में मिले जन समर्थन से लगता है कि अगली बार राजस्थान में भाजपा की सरकार बनेगी।

उन्होंने यात्रा में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी एवं पूर्व विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल की अनुपस्थिति के सवाल पर उन्होंने कहा कि तीनों से उनकी बात हुई है। सबके अपने व्यक्तिगत कारण है। उन्होंने कहा कि राज्य में भाजपा एकजुट है। ये कांग्रेस की अपनी सोच है जिसमें वह खामियां देखती है।

उन्होंने राजस्थान सरकार पर कोविड की दवाइयों एवं टीकों को बर्बाद करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र से आने वाला पैसा राजस्थान में पंचायतों तक नहीं पहुंचता। उन्होंने सवाल किया कि पंचायत का 978 करोड़ रुपए पंचायत तक क्यों नहीं पहुंचा जबकि केंद्र सरकार ने दस करोड़ किसानों के खाते में सीधे पैसा भेजने का काम किया है।

यादव ने अजमेर में स्मार्ट सिटी योजना के तहत व्याप्त अनियमितताएं, भ्रष्टाचार तथा मनमर्जी के निर्माण के सवाल पर यादव ने कहा कि स्मार्ट सिटी योजना केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है। अजमेर की शिकायतें दिल्ली तक पहुंची है और केंद्रीय मंत्री ने जांच भी बैठाई है लेकिन स्थानीय विधायकों को स्मार्ट सिटी योजना के तहत गड़बड़ी पर वाइट पेपर बनाकर मीडिया एवं आम लोगों में शेयर करने के लिए कहा है।

उन्होंने कहा कि हम आनासागर डूब क्षेत्र में गलत निर्माणों की भी जांच कराएंगे। अजमेर से उनके जुड़ाव और सहयोग के सवाल पर यादव ने अरबन कॉपरेटिव बैंक के खातेदारों को सहयोग करने, अजमेर डेयरी को 250 करोड़ दिलवाने, अजमेर रेलवे स्टेशन के दूसरे एंट्री गेट को पूरा कराने तथा दिल्ली जयपुर हाईवे पर 1100 करोड़ की राशि स्वीकृत कराए जाने की बात कही।

उन्होंने कहा कि बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के आदर्शों और नियमों के लिए केंद्र सरकार प्रतिबद्ध है। साथ ही सर्व समावेशी विकास ही हमारा मकसद है। हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को साकार करेंगे।

यह भी पढें
भूपेन्द्र यादव ने बताई जन आशीर्वाद यात्रा निकालने की असल वजह
भूपेन्द्र यादव ने अजमेर में चामुंडा माता के मंदिर में किए दर्शन
पेड़ पौधे विकसित करने से जलवायु एवं पर्यावरण दोनों सुरक्षित : भूपेन्द्र यादव
पुष्कर की समस्याओं के शीघ्र निराकरण के लिए यादव से मिले रावत
भाजपा राजस्थान की टीम सतीश पूनियां के नेतृत्व में कमल खिलाएगी : भूपेन्द्र यादव
अजमेर : गर्मजोशी से भूपेन्द्र यादव की जन आशीर्वाद यात्रा का स्वागत
मैं राजस्थान का संभावित मुख्यमंत्री नहीं : भूपेन्द्र यादव
भूपेन्द्र यादव की 417 किलोमीटर की जन आशीर्वाद यात्रा अजमेर में सम्पन्न
कांग्रेस अब लोकतांत्रिक नहीं,केवल एक परिवार का पालन करने वाली पार्टी : भूपेंद्र यादव