जापान में भूकंप से चार की मौत, 380 से अधिक घायल

Japan earthquake: Death toll rises to four, 380 injured
Japan earthquake: Death toll rises to four, 380 injured

टोक्यो। जापान के ओसाका शहर में सोमवार सुबह आए भूकंप के कारण चार लोगों की मौत हो गई और 380 से अधिक घायल हो गए। सरकारी अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

जापान के दूसरे सबसे बड़े महानगर ओसाका और उसके आस-पास के क्षेत्रों में सोमवार सुबह भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 6.1 मापी गई।

सरकार की ओर से आज जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक भूकंप के कारण कई इमारतों की दीवारें गिरने से चार लोगों की मौत हो गई और 380 से अधिक अन्य घायल हो गए। भूकंप के बाद जारी किए गए वीडियो फुटेज में इमारतों की क्षतिग्रस्त दीवारें, टूटी हुईं खिड़कियां और पानी की फटी हुई पाइप लाइन देखी जा सकती है।

जापान मौसम विज्ञान एजेंसी के मुताबिक भूकंप का केंद्र ओसाका प्रांत के उत्तरी हिस्से में जमीन की सतह से 13 किलोमीटर की गहराई में था। शुरुआत में भूकंप की तीव्रता 5.9 मापी गयी, लेकिन बाद में भूकंप की तीव्रता 6.1 बताई गई। भूकंप के कारण सुनामी की कोई चेतावनी जारी नहीं की गई।

भूकंप के कारण इमारतों की दीवारें गिरने के कारण एक 80 वर्षीय बुजुर्ग तथा नौ वर्षीय एक बच्ची की मौत हो गई। इसके अलावा किताबों की अलमारी गिरने से एक 85 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हो गई जबकि 81 वर्षीय महिला एक ड्रेसर के नीचे मृत पाई गई।

जापान के वाणिज्य मंत्री हीरूशिगे सेको ने आज कहा कि भूकंप के कारण कई फैक्ट्रियों में काम बंद कर दिया गया है। भूकंप के कारण हुए नुकसान का अभी ठीक से पता नहीं चल पाया है। भूकंप के कारण मध्य जापान का प्रमुख औद्योगिक क्षेत्र प्रभावित हुआ है।

इलेक्ट्रॉनिक कंपनी पेनासॉनिक ने कहा कि उसने अपने तीन प्लांटों में काम शुरू कर दिया है। टोयोटा मोटर काॅर्प की इकाई ने ओसाका और क्योटो में दिन में अपना उत्पादन बंद कर दिया है। कंपनी भूकंप के कारण हुए नुकसान का भी पता लगा रही है।

प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि प्रशासन एवं संबंधित अधिकारी भूकंप से हुए नुकसान का पता लगा रहे हैं। श्री आबे ने कहा कि भूकंप से प्रभावित हुए लोगों की सुरक्षा सबसे महत्वपूर्ण है जिसको लेकर आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं।

कंसाई इलेक्ट्रिक पावर ने कहा कि भूकंप के बाद मिहामा, ताकाहामा और ओही परमाणु संयंत्रों में किसी प्रकार की गड़बड़ी नहीं पायी गयी है। भूकंप के बाद ओसाका और इसके पड़ोसी प्रांत ह्योगो के 170,000 परिवारों को कुछ समय के लिए बिजली संकट का भी सामना करना पड़ा। गौरतलब है कि 2019 में ओसाका शहर में जी-20 शिखर सम्मेलन आयोजित किया जाएगा।