जसदन उपचुनाव कांग्रेस के अस्तित्व की लड़ाई, राहुल की इज्जत दांव पर : सिद्धू

navjot singh sidhu Cricketer turned Politician and Minister in Congress government of Punjab

जसदन (गुजरात)। पंजाब के मंत्री तथा क्रिकेटर से राजनेता बने कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गृह राज्य गुजरात की जसदन विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए प्रचार के दौरान अपनी पुरानी पार्टी भाजपा और मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह तथा इसके अन्य वरिष्ठ नेताओं पर अपने खास अंदाज में जबरदस्त हमला बोला।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस का गढ़ रहे जसदन का यह उपचुनाव ऐतिहासिक और कांग्रेस के अस्तित्व को तय करने वाला है। इसमें पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी की इज्जत भी दांव पर है।

ज्ञातव्य है कि 20 दिसंबर को होने वाले उपचुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा की ओर से राज्य के मंत्री कुंवरजी बावलिया उम्मीदवार है जिनके गत जुलाई माह में कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होने के कारण ही यह उपचुनाव हो रहा है।

बावलिया पहले इस सीट पर पांच बार कांग्रेस के विधायक रह चुके हैं। कांग्रेस इस सीट के इतिहास में केवल एक बार ही हारी है। पार्टी के उम्मीदवार इस बार बावलिया के राजनीतिक शिष्य रहे अवसर नाकिया हैं। इस चुनाव को दोनो ही पार्टियों के लिए प्रतिष्ठा की जंग माना जा रहा है। इसका नतीजा 23 दिसंबर को घोषित होगा।

सिद्धू ने चुनाव प्रचार के अंतिम दिन यहां चुनावी सभा में आरोप लगाया कि केंद्र की मोदी सरकार और गुजरात की विजय रूपाणी सरकार अमीरों और उद्योगपतियों की सरकार है। मोदी लगातार झूठे वादे करते जा रहे है जबकि पहले किए गए काला धन लाने, बेरोजगारी दूर करने, गंगा नदी की सफाई और किसानों की गरीबी दूर करने जैसे वादे पूरे ही नहीं हुए।

यह सरकार किसानों को उनके उपज की भी उचित कीमत नहीं दे रही। किसान असल में राजा है पर उसे इस सरकार ने भिखारी बना दिया है। राज्य सरकार उपचुनाव में हार सामने देख कर 650 करोड़ रूपये की बिजली बिल बकाया माफी का खोखला लॉलीपॉप दिखा रही है।

उन्होंने कहा कि गुजरात में 22 साल से सत्ता में रही भाजपा ने आज तक किसानों का कर्ज माफ नहीं किया जबकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में चुनावी जीत के 22 मिनट में ही ऐसा फैसला ले लिया। मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ से भाजपा गई और चार माह बाद जब बुरे दिन और मोदी सरकार चली जाएगी और राहुल गांधी आएंगे तो गुजरात के किसानों की भी कर्ज माफी कर दी जाएगी।

वह मोदी से पूछना चाहते हैं कि उन्होंने अंबानी का 45 हजार करोड, अडानी का 1 लाख करोड और अन्य अमीर उद्योगपतियों के भी हजारो करोड़ रूपए माफ किए हैं, पर किसानों को बेहाल रखा है, तो उनकी सरकार अमीरों की है या किसानों की। उनकी सरकार को अमीर और उद्योगपति अपने इशारे पर तो नहीं नचा रहे।

सिद्धू ने आरोप लगाया कि भाजपा के शासन में नोटबंदी के दौरान भी घपले हुए और 2250 करोड़ के पुराने नोट तो अकेले गुजरात के तीन कोऑपरेटिव बैंकों में डाल दिए गए। राफेल विमान सौदे में भी धांधली हुई और इसके बारे में सही जानकारी अदालत को नहीं दी गई। सरकार ने विदेशों में 90 लाख करोड़ का काला धन रखने वालों की जानकारी सार्वजनिक क्यों नहीं की। उन्होंने जीएसटी, शाह के बेटे जय शाह की कंपनी की बैलेंस सीट में बढ़ोत्तरी, नर्मदा परियोजना में कथित भ्रष्टाचार जैसे मुद्दे भी उठाए।

उन्होंने कहा कि मोदी की लहर अब भाजपा के लिए कहर बन गई है और जनता के लिए तो जहर बन गई है। उन्होंने श्री बावलिया को मंत्री पद का लाेभी और अवसरवादी तथा कांग्रेस से धोखा करने वाला नेता बताते हुए कहा कि पैसे और शराब के प्रलोभन में आए बगैर जसदन की जनता ऐसे नेता को हराएं ताकि कांग्रेस का मनोबल बढ़े।

सिद्धू ने अपने भाषण के दौरान चुटकुलों, शेरो शायरी और कहानियों के जरिये भी भाजपा और प्रधानमंत्री पर जबरदस्त प्रहार बोला।