जेईई तथा नीट की परीक्षाएं साल में दो बार होंगी : प्रकाश जावड़ेकर

JEE and NEET to be held twice a year says Prakash Javadekar
JEE and NEET to be held twice a year says Prakash Javadekar

नई दिल्ली। सरकार ने इंजीनियरिंग तथा डॉक्टरी की पढाई के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा तथा राष्ट्रीय पात्रता एवं प्रवेश परीक्षा को साल में दो बार आयोजित करने का फैसला किया है।

मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शनिवार को यहां संवाददाताओं से कहा कि जेईई (मेन), नीट, एनईटी आदि परीक्षाएं 2019 से एक साल में दो बार आयोजित की जाएंगी। जेईई मेन परीक्षा का आयोजन जनवरी तथा अप्रेल में किया जाएगा जबकि नीट का आयोजन फरवरी तथा मई में होगा।

उन्होंने कहा कि ये परीक्षाएं हाल ही में गठित नेशनल टेस्टिंग एजेंसी(एनटीए) द्वारा आयोजित की जाएंगी। अभी इनका आयोजन केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड(सीबीएसई) कर रहा है। उन्होंने कहा कि एनटीए ने इस दिशा में अपना कार्य शुरू कर दिया है।

जेईई मेन, नीट, यूजीसी-नेट, संयुक्त प्रबंधन प्रवेश परीक्षा (सीएमएटी) तथा ग्रेजुएट फार्मेसी एप्टीट्यूट टेस्ट परीक्षा वही आयोजित करेगी। इसकी विशेषता होगी कि अगले सत्र से ये परीक्षाएं साल में दो बार आयोजित की जाएंगी।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इससे छात्रों का एक साल खराब नहीं होगा। वे परीक्षा में एक साल में दोनों बार बैठ सकेंगे और प्रवेश के लिए दोनों में से ज्यादा अंकों को देखा जाएगा।

जावड़ेकर ने कहा कि इन परीक्षाओं के पाठ्यक्रम, प्रश्नपत्रों के स्वरूप, भाषा तथा परीक्षा शुल्क आदि में कोई बदलाव नहीं किया गया है। परीक्षा अब चार से पांच दिन तक आयोजित की जाएगी।

उन्होंने कहा कि यह परीक्षा ज्यादा सुरक्षित होगी और सुरक्षा मानक अंतरराष्ट्रीय स्तर के होंगे। प्रश्नपत्र लीक नहीं होंगे और परीक्षा को छात्रों के लिए ज्यादा अनुकूल, वैज्ञानिक तथा लीक प्रूफ प्रणाली पर तैयार किया जाएगा।

सरकारी विज्ञप्ति में भी स्पष्ट किया गया है कि इन परीक्षाओं के लिए अत्यधिक सुरक्षित सूचना साॅफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जाएगा और यह सुनिश्चित किया जाएगा कि इसमें किसी तरह की लीक की संभावना नहीं हो और न ही इनसे छेड़छाड़ की जा सके।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि एनटीए ग्रामीण क्षेत्र के छात्रों के लिए परीक्षा की तैयारी के वास्ते केंद्र स्थापित करेगा ताकि देश के हर बच्चे को परीक्षा में बैठने के लिए तैयार कर उसे अवसर उपलब्ध कराया जा सके।

ये केंद्र कहां खोले जाएंगे इसके लिए स्कूलों तथा इंजीनियरिंग काॅलेजों की पहचान की जाएगी और वहां शनिवार तथा रविवार को छात्रों से इन परीक्षाओं की निशुल्क तैयारी कराई जाएगी। ये केंद्र अगस्त से काम करना शुरू कर देंगे। यूजीसी-नेट के लिए दिसम्बर, जेईई मेन के लिए जनवरी 2019 तथा अप्रेल 2019 को परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी।