झाबुआ उपचुनाव : 60 फीसदी से अधिक मतदान

झाबुआ। मध्यप्रदेश के झाबुआ विधानसभा उपचुनाव के लिए आज शाम पांच बजे मतदान संपन्न हो गया और दो लाख 77 हजार से अधिक मतदाताओं में से साठ प्रतिशत से अधिक ने वोट डाले।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार सख्त सुरक्षा प्रबंधों के बीच मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गया। सूत्रों ने कहा कि शाम पांच बजे तक 60 प्रतिशत से कुछ अधिक मतदान होने की सूचनाएं हैं। हालांकि अभी यह आकड़ा और बढ़ने की संभावना है। मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ था।

मतदान पूर्ण होने के साथ ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया और भारतीय जनता पार्टी के युवा नेता भानु भूरिया समेत पांचों प्रत्याशियों की किस्मत इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में बंद हो गई।

मतों की गिनती गुरूवार यानी 24 अक्टूबर को होगी। इस सीट पर कब्जा बरकरार रखने के लिए जहां भाजपा ने अपनी पूरी ताकत लगायी है, वहीं सत्तारूढ़ दल कांग्रेस ने भाजपा से इस सीट को छीनने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। अनुसूचित जनजाति के लिए सुरक्षित झाबुआ सीट पर विधानसभा उपचुनाव काफी महत्वपूर्ण है और यहां पर मुख्यमंत्री कमलनाथ की प्रतिष्ठा भी दाव पर लगी है।

झाबुआ विधानसभा क्षेत्र में 02 लाख 77 हजार 599 मतदाता हैं, जिनमें एक लाख 39 हजार 330 पुरुष तथा एक लाख 36 हजार 266 महिला और तीन ‘थर्ड जेंडर’ मतदाता शामिल हैं। मतदान के लिए 356 मतदान केंद्र बनाए गए थे। सुबह मतदान शुरू होने के बाद अधिकांश मतदान केंद्रों के बाद दोपहर तक मतदाताओं की भीड़ देखी गई।

झाबुआ में भाजपा विधायक जी एस डामाेर के रतलाम-झाबुआ संसदीय सीट से भाजपा के ही टिकट पर सांसद चुने जाने के कारण विधायक पद से त्यागपत्र देने के चलते यहां पर उपचुनाव हो रहा है।