झांसी : कटे पैर का तकिया बनाने के मामले में 2 डाक्टरों समेत 4 सस्पेंड

Jhansi hospital makes man lie with severed leg under head
Jhansi hospital makes man lie with severed leg under head

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टण्डन के निर्देश पर झांसी मेडिकल काॅलेज में एक युवक के कटे पैर के प्रति डाॅक्टरों तथा नर्सों की लापरवाही की घटना काे गंभीरता से लेते हुए दो चिकित्सकों सहित चार कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। इसके अलावा असिस्टेण्ट प्रोफेसर (आॅर्थोपेडिक्स) डाॅ प्रवीण सरावगी के खिलाफ भी विभागीय कार्रवाई के आदेश जारी कर दिए गए हैं।

यह जानकारी देते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि इस पूरे प्रकरण की जांच के आदेश दिए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि निलंबित होने वालों में एक सीनियर रेजीडेण्ट (आॅर्थोपेडिक्स) डाॅ0 आलोक अग्रवाल, ईएमओ डाॅ महेन्द्र पाल सिंह, सिस्टर इंचार्ज दीपा नारंग तथा शशि श्रीवास्तव शामिल है।

गौरतलब है कि झांसी में शनिवार को स्कूल बस के पलटने से छह बच्चे और बस क्लीनर घायल हो गया था। बस क्लीनर घनश्याम का पैर कट गया था और स्टेचर पर लाते समय उसके कटे पैर को सिर के नीचे दख दिया गया था। यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी।