अजमेर में कोरोना का पहला टीका डा वीर बहादुर सिंह को लगा

अजमेर। राजस्थान के अजमेर संभाग में सबसे बड़े जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में आज कोरोना मुक्ति टीकाकरण अभियान की शुरुआत हुई जिसमें सबसे पहला टीका प्राचार्य एवं सामूहिक चिकित्सालय संघ के नियंत्रक डॉ. वीर बहादुर सिंह को लगाया गया।

इस मौके पर अस्पताल के यूरोलॉजी विभाग को वैक्सीनेशन सेंटर बनाया गया और उसे गुब्बारों आदि से सजाया गया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. केके सोनी के अलावा अन्य चिकित्सक, प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारी तथा हेल्थ वर्कर मौजूद रहे।

प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा ऑनलाइन राज्य स्तरीय टीकाकरण शुभारंभ कार्यक्रम में चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने विभाग के चिकित्सकों से संवाद किया और इस दौरान अजमेर जिले में टीकाकरण के सभी व्यवस्था को माकूल बताते हुए संतोष जाहिर किया।

अजमेर जिले में आज सात केंद्रों पर टीकाकरण कार्यक्रम शुभारंभ कर दिया गया है। इनमें जेएलएन अस्पताल, जनाना अस्पताल, सेटेलाइट अस्पताल, निजी मित्तल अस्पताल के अलावा केकड़ी, ब्यावर तथा किशनगढ़ के राजकीय चिकित्सालय में टीकाकरण कार्यक्रम चलाया जा रहा है। प्रत्येक केंद्र पर चिह्नित सौ फ्रंटलाइन वर्करों को आज के दिन टीकाकरण किया जा रहा है। इस हिसाब से आज अजमेर जिले में पहले चरण के पहले दिन सात सौ लोगों को कोरोना वैक्सीन दी जाएगी।

टीका लगाने के बाद डा सिंह ने मीडिया से कहा कि उनके टीका लगने के बाद उन्हें किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं हुई हैं। उन्होंने कहा कि इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं हैं और सभी को यह टीका लगवाना चाहिए।