अजमेर : खरवा में बालक की हत्या का पर्दाफाश, नाबालिग डिटेन

अजमेर। राजस्थान में अजमेर जिले के ब्यावर सदर थाना क्षेत्र के ग्राम खरवा में पिछले दिनों हुई एक बालक की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर लिया है।

नवनियुक्त जिला पुलिस अधीक्षक जगदीशचंद्र शर्मा ने बताया कि छह जनवरी को ग्राम खरवा कन्या विद्यालय के पास पुरानी घुड़शाला पर एक बच्चे की लाश पड़ी है और उसके हाथ पैर लोहे के तार से बंधे हैं।

थाना सदर सीआई सुरेंद्र सिंह ने घटना की सूचना के बाद मृतक की पहचान जयराज (17) निवासी चंडावल (पाली) हाल पावर हाउस के पीछे खरवा के रूप में की और अनुसंधान शुरू किया।

अनुसंधान में यह बात निकलकर सामने आई कि मृतक जयराज और उसके हमउम्र दोस्त पांच जनवरी को दोपहर एक बजे खंडर की छत पर पतंग उड़ा रहे थे। उस बच्चे से जब मनोवैज्ञानिक तरीके से पूछताछ की गई तो उसने जयराज की हत्या करना स्वीकार कर लिया।

पुलिस ने जयराज की हत्या करने वाले आरोपी बालक को विधि विरुद्ध श्रेणी में डिटेन किया है। पुलिस कप्तान शर्मा ने बताया कि दोनों में पतंग उड़ाने के दौरान सुअरों पर पत्थर फेंकने और उसके बाद टीशर्ट गंदी होने को लेकर विवाद हो गया।

विधि विरुद्ध संघर्ष बालक ने पत्थर उठाकर जयराज को मारा जिसके कारण उसकी कनपटी में चोट लग गई। बाद में उसने उसे ठिकाने लगाने के उद्देश्य से हाथ पैरों को बांधकर खंडरनुमा कमरे में घसीट लाया और उसे प्लास्टिक के कट्टे में डालकर जलाने का प्रयास किया। फिलहाल पुलिस ने हत्या की गुत्थी को सुलझा लिया है।