कैराना उपचुनाव : तबस्सुम बेगम ने पर्चा भरा नहीं विरोध के सुर हुए मुखर

सहारनपुर। अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव का ट्रायल समझे जाने वाले कैराना संसदीय क्षेत्र में 28 मई को होने वाले उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी की राह मुश्किल करने के लिए मैदान पर उतरने को बेकरार विपक्ष की संयुक्त उम्मीदवार तबस्सुम बेगम के खिलाफ विरोध के स्वर मुखर होने लगे हैं।

उपचुनाव के लिए नामांकन का काम तीन मई से शुरू हो गया था लेकिन किसी प्रत्याशी की ओर से अब तक कोई नामांकन दाखिल नहीं किया गया। तबस्सुम बेगम की उम्मीदवारी पर भाजपा के मेरठ प्रांत के अध्यक्ष अश्वनी त्यागी ने कहा कि विपक्षी दलों ने उन्हीं लोगों पर दांव खेला है जिनके कारण कैराना से लोगों का पलायन शुरू हुआ था। उन्होंने मतदाताओं से अपील की कि वे विपक्षी दलों की चाल को समझे और भाजपा पर पहले की तरह भरोसा जताए।

कांग्रेस उपाध्यक्ष और सहारनपुर के पूर्व विधायक इमरान मसूद तबस्सुम बेगम का विरोध करने वालो में सबसे ज्यादा मुखर है। उन्होंने साफ कहा कि वह इस उम्मीदवार के लिए चुनाव प्रचार नहीं करेंगे। मसूद का कहना है कि वर्ष 2017 के विधानसभा चुनावों में तबस्सुम बेगम के पुत्र और कैराना के सपा विधायक ने उनका विरोध किया था। वह इस बात को भूलेगे नहीं। विपक्षी उम्मीदवार ऐसा होना चाहिए था जिसको सभी विपक्षी दलों का समर्थन प्राप्त होता।

गौरतलब है कि तबस्सुम बेगम 2009 में कैराना लोकसभा सीट से बसपा से सांसद चुनी गई थी जबकि 2014 के लोकसभा चुनाव मेें उनके बेटे नाहिद हसन ने सपा उम्मीदवार के रूप में भाजपा प्रत्याशी बाबू हुकम सिंह के खिलाफ चुनाव लडा था। नाहिद हसन सहारनपुर जिले की नकुड और गंगोह दोनो विधानसभा सीटों पर भाजपा प्रत्याशी हुकम सिंह से पीछे रहे थे।

नकुड में नाहिद को 74 हजार 385 और हुकम सिंह को एक लाख आठ हजार पांच सौ 83 एवं गंगोह में नाहिद को 70 हजार 339 और हुकम सिंह को एक लाख 27 हजार 82 मत प्राप्त हुए थे। इन दोनो सीटों पर 2017 के विधानसभा चुनावों में भी भाजपा जीती थी। नकुड़ के विधायक धर्म सिंह सैनी राज्य सरकार में मंत्री भी है।

भाजपा के राज्यसभा सदस्य विजयपाल तोमर ने कस्बा गंगोह में भाजपा प्रत्याशी मृगांका सिंह के चुनाव कार्यालय का उद्घाटन करते हुए कहा कि कैराना उप चुनाव में भाजपा की जीत होगी। इस दौरान विधायक विक्रम सैनी, विधायक प्रमोद अटवाल,डीसीडीएफ के चेयरमैन कृष्ण कुमार पुंडीर और मृगांका सिंह आदि मौजूद रहे। सहारनपुर जिले में राज्य सरकार के आधा दर्जन मंत्रियों ने भाजपा उम्मीदवार के पक्ष में चुनाव प्रचार किया।

इन मंत्रियों में चौधरी भूपेंद्र सिंह, डा. धर्म सिंह सैनी, सिंचाई मंत्री एसपी सिंह बघेल आदि शामिल रहे। प्रदेश के कृषि मंत्री और सहारनपुर जिले के प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने भी दावा किया कि भाजपा की जीत होगी। वह सहारनपुर होकर जा चुके है और तीन-चार दिन बाद ही फिर से यहां आकर डेरा डालेंगे।