मेरी अंतिम इच्छा जीते जी हो जाए राम मंदिर का निर्माण : कल्याण सिंह

लखनऊ। राम मंदिर आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाने वाले उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने कहा कि उनकी अंतिम इच्छा है कि भव्य राम मंदिर का निर्माण उनकी आंखों के सामने हो जाए ताकि वे अपने आराध्य को जी भर कर निहार सकें।

भारतीय जनता पार्टी के बुजुर्ग नेता ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह-सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले और श्रीराम मंदिर तीर्थ क्षेत्र अध्यक्ष के उत्तराधिकारी कमल नयन दास को अपने आवास पर मंदिर निर्माण के लिए एक लाख रूपया दान किया।

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि मेरी अंतिम इच्छा है कि राम मंदिर का निर्माण पूरा देखकर ही अंतिम सांस लूं। सारा जग जानता है कि मैं भगवान राम के प्रति श्रद्धा रखता हूं। जब मुख्यमंत्री था तब भी श्रद्धा थी और आज जब नही हूं तब भी उतनी ही श्रद्धा रखता हूं। मेरी श्रद्धा में कोई अंतर नहीं आया है।

उन्होने कहा कि लम्बे समय से देश का गौरव क्षीण हो गया था, भगवान राम काफी अपमानित हो रहे थे। छह दिसंबर को कुछ घटना हो गई। मैं यह समझता हूं कि अगर वो ढांचा बना रहता तो कोई भी अदालत वहां मंदिर निर्माण का आदेश नहीं देती। मुझे आशा है कि मेरे जीवनकाल में भव्य राम मंदिर बन जाएगा।

राजस्थान के पूर्व राज्यपाल ने कहा कि केन्द्रीय जांच ब्यूरो ने विवादित ढांचा ध्वंस मामले में 32 आरोपियों को बरी किया था, लेकिन अभी भी कुछ लोग न्यायालय में याचिका दाखिल कर अड़ंगा लगा रहे हैं जबकि उन्हे भी पता है कि अब न रिवीजन से कुछ होगा ना डिवीजन से कुछ होगा। अयोध्या में श्रीराम का भव्य मंदिर बनेगा।

इस मौके पर दत्तात्रेय होसबोले ने कहा कि यह हर्ष और आनंद का विषय है कि जिस व्यक्ति ने राम मंदिर को लेकर इतिहास रचा, उनके घर पर राम मंदिर निर्माण के लिए धन संग्रह के लिए आए हैं। हम लोग 12 करोड़ परिवार से संपर्क करने के लिए चार लाख गांवों का भ्रमण करेंगे। आज से शुरू हुआ धन संग्रह का यह अभियान 27 फरवरी तक चलेगा। राम मंदिर से राष्ट्र मंदिर का निर्माण होगा।