मुंबई : शिवसेना नेता की चाकू घोंप कर हत्या, 2 अरेस्ट

Kandivali murder: 2 arrested in connection with Shiv Sena leaders killing
Kandivali murder: 2 arrested in connection with Shiv Sena leaders killing

मुंबई। शिवसेना नेता अशोक सावंत की रविवार रात उनके घर के बाहर चाकू से घोंप कर हत्या कर दी गई। इस मामले में पुलिस ने सोमवार को दो कथित हमलावरों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस के मुताबिक पूर्व निगम पार्षद सावंत रविवार रात करीब 11 बजे ठाकुर कॉम्प्लेक्स में एक बैठक समाप्त कर स्कूटर की पीछे वाली सीट पर सवार होकर वीडियोकॉन टॉवर स्थित अपने अपार्टमेंट लौट रहे थे।

घर के नजदीक पहुंचते ही अचानक एक अज्ञात व्यक्ति ने स्कूटर में लात मार दी, जिससे स्कूटर अंसतुलित हो गया और चालक को गाड़ी रोकने के लिए मजबूर होना पड़ा। इसके बाद चालक की उस शख्स से कहासुनी हो गई और सावंत वहीं इंतजार करते रहे।

घटना के वक्त मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि दो अन्य व्यक्ति वहीं सुनसान सड़क पर इंतजार कर रहे थे। उन्होंने सावंत के ऊपर चाकुओं से हमला कर दिया। हमले में लहूलुहान सावंत अपने घर से करीब 400 मीटर की दूरी पर गिर पड़े।

सूचना पाकर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस की एक टीम ने उन्हें तत्काल एक निजी अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। 63 वर्षीय नेता की गर्दन, छाती और सिर समेत पूरे शरीर पर कम से कम 17 वार किए गए थे।

पुलिस ने इलाके के सीसीटीवी फूटेज खंगाले हैं और दोनों हमलावरों की पहचान कर ली गई है। प्रथमदृष्ट्या यह जबरन वसूली का मामला नजर आ रहा है।

जोन 12 के पुलिस उपायुक्त विनय राठौड़ ने कहा कि हमने दो लोगों को गिरफ्तार किया है और घटना में इस्तेमाल किए गए ऑटोरिक्शा को जब्त कर लिया है, हालांकि मामले की जांच अभी जारी है। हमलावरों ने उपयुक्त समय पर अपराध को अंजाम देने से पहले ऑटोरिक्शा में यात्रा करते हुए क्षेत्र की रेकी की थी।

सावंत ने पोइसर गांव इलाके से दो बार निगम पार्षद के रूप में अपनी सेवाएं दी थी। शिवसेना द्वारा उपविभाग प्रमुख नियुक्त किए जाने के बाद उन्हें एक बार चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था, साथ ही उनकी बेटी भी एक बार निर्वाचित हो चुकी है।

उनके परिवार में उनकी पत्नी, राजनीतिक बेटी और एक अन्य बेटी के अलावा एक बेटा है। बेटी और बेटा दोनों चिकित्सक हैं।

दिवंगत पार्षद के सम्मान में कांदिवली पूर्व के कुछ हिस्सों को तत्काल बंद कर दिया गया। विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों समेत लगभग 5,000 लोगों ने दोपहर में पास के बोरिवली पूर्व श्मशान में सावंत के अंतिम संस्कार में हिस्सा लिया।