कर्नाटक में बसवराज बोम्मई मंत्रिमंडल के 29 नए मंत्रियों ने ली शपथ

बेंगलूरु। कर्नाटक के राज्यपाल थावरचंद गहलोत ने बुधवार को बसवराज बोम्मई मंत्रिमंडल के 29 नये मंत्रियों को पद की शपथ दिलाई। शपथ ग्रहण समारोह बेंगलूरु में कर्नाटक राजभवन के ग्लास हाउस में राष्ट्रगान के साथ अपराह्न दो बजकर 15 मिनट पर शुरू हुआ।

इससे पहले बाेम्मई ने संभावित मंत्रियों की सूची जारी की जिसमें बीवाई विजयेंद्र का नाम नहीं था। विजयेन्द्र भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना कर रहे हैं। विजयेन्द्र येदियुरप्पा के पुत्र हैं। बोम्मई ने कहा कि कैबिनेट में अनुभवी और नए चेहरे होंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा वर्ष 2023 विधान सभा चुनाव और अन्य क्षेत्रीय तथ्यों को ध्यान में रखकर मंत्री बनाए गए हैं। बोम्मई के मंत्रिमंडल में पहले दो शपथ लेने वालों में पूर्व उप मुख्यमंत्री गोविंद एम कारजोल और पूर्व ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज मंत्री के एस ईश्वरप्पा थे।

करजोल बागलकोट जिले के मुधोल निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं, जबकि ईश्वरप्पा शिवमोग्गा विधानसभा के विधायक हैं, पूर्व राजस्व मंत्री आर अशोक शपथ लेने के लिए सूची में तीसरे स्थान पर थे। वह पद्मनाभनगर निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले विधायक हैं। अशोक राज्य में वोक्कालिगा समुदाय का एक प्रमुख चेहरा हैं।

अनुसूचित जाति नेता बी श्रीरामालू ने इसके बाद शपथ ली। वह चित्रदुर्ग जिले के मोलाकालमुरु विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। उन्होंने शुरू में येदियुरप्पा के नेतृत्व वाली पिछली कैबिनेट में स्वास्थ्य विभाग संभाला था, लेकिन फिर कोविड से संबंधित मुद्दों पर के सुधाकर के साथ कथित मतभेद के बाद उन्हें समाज कल्याण विभाग के प्रभार के साथ फिर से नियुक्त किया गया था। उन्हें येदियुरप्पा के नेतृत्व वाली कैबिनेट में बंदोबस्ती मंत्री के रूप में पदोन्नत किया गया था।

इसके बाद शपथ लेने में प्रभु चव्हाण थे, जिन्होंने पिछली कैबिनेट में पशुपालन विभाग का प्रभार संभाला था। वह बीदर जिले के औराद निर्वाचन क्षेत्र से तीन बार के विधायक और लम्बानी समुदाय का प्रतिनिधित्व करते हैं। चव्हाण ने अपने समुदाय के पारंपरिक परिधान में शपथ ली। बोम्मई ने शपथ ग्रहण समारोह से पहले पूर्व मुख्यमंत्री येदियुरप्पा से उनके आवास पर मुलाकात की। श्री बोम्मई के साथ पार्टी के कुछ अन्य भी नेता भी थे।

जिन मंत्रियों ने शपथ ली उनमें वी सोमन्ना (गोविंदराजनगर, बेंगलुरु जिला), उमेश कट्टी (हुक्केरी, बेलगावी जिला), एस अंगारा (सुलिया, दक्षिण कन्नड़ जिला), जेसी मधुस्वामी (चिक्कानायकनहल्ली, टुमकुरु जिला), अरग ज्ञानेंद्र (तीर्थहागा, शिवमोगा जिला), सी एन अश्वथनारायण (मल्लेश्वरम, बेंगलुरु) सीसी पाटिल (नरगुंड, गडग जिला), आनंद सिंह (होसपेट, विजयनगर गहलोत) शामिल हैं।

इसके बाद फिर मंत्रियों को शपथ दिलाई गई जिनके नाम मुरुगेश निरानी (बिल्गी, बागलकोट जिला), शिवराम हेब्बार (येलापुर, उत्तर कन्नड़ जिला), एसटी सोमशेखर (यशवंतपुर, बेंगलूरु जिला) और बीसी पाटिल (हिरेकेरुर, हावेरी जिला) है। पिछली कैबिनेट में हालांकि निरानी खान और भूविज्ञान मंत्री थे, जबकि हेब्बार श्रम और चीनी विभागों के प्रभारी थे।