कांग्रेस विधायक रमेश कुमार ने रेप संबंधी अपने बयान पर मांगी माफी

बेलागावी। कांग्रेस विधायक एवं पूर्व विधानसभा अध्यक्ष के आर रमेश कुमार ने महिलाओं को लेकर दिए गए अपने बयान पर शुक्रवार को माफी मांगते हुए कहा कि उन्होंने कर्नाटक विधानसभा में अंग्रेजी की एक कहावत का जिक्र किया था और उनका इरादा महिलाओं को अपमानित करने का नहीं था।

उन्होंने कहा कि मैं अंग्रेजी की एक लोकप्रिय कहावत का सिर्फ जिक्र कर रहा था। मेरा महिलाओं को अपमानित करने का या विधानसभा में कोई अपमानजनक स्थिति पैदा करने का इरादा नहीं था। हम कोई टिप्पणी करते हैं जिसे संदर्भ से हटकर प्रस्तुत कर दिया जाता है। मैं इस पर अपना कोई बचाव नहीं करना चाहता।

कुमार ने यहां विधानसभा में कहा कि मुझे कोई अभिमान नहीं है। मैं बहुत साधारण पृष्ठभूमि से आता हूं। मैंने जीवन को हमेशा सम्मान के साथ जीने का प्रयास किया है। मेरा किसी को चुनौती देने का इरादा नहीं है। यहां तक आपको (विशेश्वर हेगडे कागेरी) भी निशाना बनाया गया। यदि कोई खासकर महिलाएं मेरे अंग्रेजी की कहावत से दुखी हुई हैं तो मुझे अपनी गलती स्वीकार करने में कोई संकोच नहीं है।

उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में मैं कन्फ्यूसियस के एक कथन का उल्लेख करना चाहूंगा, उन्होंने कहा था कि एक गलती को स्वीकार कीजिए, एक गलती को समाप्त कीजिए। एक गलती से इन्कार करने से कई गलतियां होंगी। मैं इसके लिए माफी मांगता हूं। आइये इस विवाद को यहां समाप्त करें और सदन की कार्यवाही चलने दें।

गौरतलब है कि किसानों पर सदन में हो रही चर्चा के दौरान गुरुवार को विधानसभा अध्यक्ष कागेरी ने कहा था कि यदि सभी को बोलने की अनुमति दी जाए तो सदन की कार्यवाही कैसे चलाई जा सकती है। कुमार ने इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा था कि एक कहावत है, जब बलात्कार होना निश्चित हो जाए तो विरोध न करके उसका मजा लेना चाहिए। आपकी एकदम वही स्थिति है। इस पर कागेरी और अन्य सदस्य हंस पड़े थे।

विधानसभा अध्यक्ष ने इसके बाद कहा कि अब इस विवाद को और आगे बढ़ाने की कोई जरूरत नहीं है। किसी विधायक का महिलाओं का अपमान करने या सदन की गरिमा को ठेस पहुंचाने का इरादा नहीं है। कुमार का इस तरह का विवाद पैदा करने का यह पहला वाकया नहीं है, उन्होंने 2019 में अपनी तुलना ‘बलात्कार पीड़ित’ से कर दी थी।

कांग्रेस ने रमेश की टिप्पणी को बताया असंवेदनशील

कांग्रेस ने कर्नाटक विधानभा के पूर्व अध्यक्ष और पार्टी के वरिष्ठ नेता के आर रमेश कुमार की बलात्कार को लेकर की गई टिप्पणी को पूरी तरह से असंवेदनशील बताते हुए कहा है कि पार्टी को इस तरह का कोई भी अमर्यादित व्यवहार स्वीकार नहीं है।

कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट किया कि कांग्रेस पार्टी को कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक के बीच सदन में इस तरह का अत्यधिक आपत्तिजनक और असंवेदनशील मजाक अस्वीकार्य है। विधानसभा अध्यक्ष से रोल मॉडल होने की उम्मीद की जाती है और उन्हें इस तरह के आपत्तिजनक और अस्वीकार्य व्यवहार नहीं करना चाहिए।

कर्नाटक के वरिष्ठ कांग्रेस नेता तथा राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी विधानसभा में हुए इस व्यवहार पर हैरानी जताई और कहा कि वे अनुभवी राजनेता हैं और दो बार विधानसभा अध्यक्ष रहे हैं इसलिए उन्हें इस तरह का व्यवहार नहीं कहना चाहिए था। उन्होंने जो कुछ भी कहा है उसको कोई भी सही नहीं ठहरा सकता। उन्होंने इसके लिए माफी मांगी है।

कांग्रेस नेत्री अल्का लाम्बा ने कहा कि कर्नाटक विधानसभा में जिसने भी नीच टिप्पणी की और उस समय जो भी उपस्थित थे, बेशर्मी से ठहाके लगा रहा थे, उन्हें स्पीकर सहित चुल्लू भर पानी में डूब मरना चाहिए, जब संवैधानिक पदों पर बैठे नेता ही इस तरह की सोच रखेगे तो देश में बेटियां कभी भी सुरक्षित नहीं रह सकती हैं।

भाजपा ने अशोभनीय टिप्पणी की आलोचना की

भारतीय जनता पार्टी ने कर्नाटक में कांग्रेस विधायक और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार की दुष्कर्म को लेकर की गई अशोभनीय टिप्पणी की आलोचना करते हुए कहा है कि महिलाओं के खिलाफ लगातार निम्न स्तर की टिप्पणी करने का कांग्रेस का इतिहास रहा है।

भाजपा मीडिया प्रमुख और राज्य सभा सांसद अनिल बलूनी ने शुक्रवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि आज सुबह से टीवी चैनलों पर हम कर्नाटक के एक कांग्रेस विधायक का बहुत ही भद्दा बयान हम देख रहे हैं। यह बयान बहुत ही दुखद और शर्मसार करने वाला है।

भाजपा प्रवक्ता अपराजिता सारंगी ने कहा कि कुछ दिन पहले कर्नाटक विधानसभा में दुःखद घटना हुई। दुःखद विधानसभा अध्यक्ष विश्वेश्वर हेगड़े कागेरी इस पर आपत्ति नहीं जताई और वह हंसने लगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस विधायक कुमार खुद विधानसभा अध्यक्ष रहे है। इन्होंने पहले भी दुष्कर्म को लेकर निंदनीय बयान दिया था।

सारंगी ने कहा कि याद आता है उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुई दुष्कर्म की दुखद घटना पर राजनीति करने वाले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी का पूरा परिवार हाथरस गया था अब वे कहां है। उत्तरप्रदेश में महिला कार्ड खेला है तो बताईये कांग्रेस जब महिलाओं को सम्मान देना नहीं जानती तो कौन इनके साथ खड़ा होगा। हम इसकी निंदा करते हैं।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महिला उत्थान की बात करते हैं लेकिन कांग्रेस के लोग महिलाओं को लेकर किस तरह की निम्न बात करते हैं। दरअसल कर्नाटक विधानसभा में कांग्रेस विधायक और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष कुमार ने दुष्कर्म का मज़ाक उड़ाते हुए आपत्तिजनक और शर्मनाक बयान दिया है।