डीके शिवकुमार को कर्नाटक की गठबंधन सरकार बचाने की जिम्मेदारी

बेंगलुरु। कर्नाटक में कांग्रेस और जनता दल (सेक्युलर) की गठबंधन सरकार के विधायकों को तोड़ने के भारतीय जनता पार्टी पर लग रहे आरोपों के बीच कांग्रेस ने मंत्री एवं पार्टी के संकटमोचक डीके शिवकुमार को गठबंधन सरकार को बचाने की जिम्मेदारी सौंपी है।

कांग्रेस के राज्य के वरिष्ठ नेताओं ने स्टार होटल मेें बैठक कर भाजपा की ओर से सत्ताधारी दल के विधायकों को तोड़ने के लिए चलाए जा रहे अभियान को नाकाम करने के विषय पर चर्चा की। भाजपा पर गठबंधन सरकार को गिराने के लिए विधायकों को अपने खेमे में करने के प्रयास करने के आरोप लगाए जा रहे हैं।

कांग्रेस सूत्रों के अनुसार पार्टी ने बैठक में संकटमोचक शिवकुमार को पार्टी को किसी भी टूट-फूट से बचाने और इस संबंध आवश्यक कदम उठाने और इसके लिए उपयुक्त योजना बनाने की जिम्मेदारी सौंपी। वह अब कांग्रेस के असंतुष्ट विधायकों को मनाने और उनको भाजपा के जाल से बचाने की योजना बनाएंगे।

सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस के तीन अंसतुष्ट विधायक पिछले तीन दिनों से मुंबई में हैं और भाजपा नेता उनसे संपर्क करने का प्रयास कर रहे हैं। शिवकुमार अब मुंबई जाकर इन विधायकों से संपर्क करके इन्हें मनाने का प्रयास करेंगे।

बैठक के बाद शिवकुमार ने पत्रकारों को कहा कि मुझे पता है कि इस तरह की राजनीति कैसे की जाती है। हम भाजपा के विधायकों को तोड़ने के अभियान को नाकाम करेंगे। शिवकुमार ने सोमवार को बैठक से पहले कहा कि उनको असंतुष्ट विधायक की जानकारी है और यह भी पता है कि वे मुंबई के किस होटल में ठहरे हैं।