दुनिया को कोरोना वायरस से लड़ने की दिशा दिखा सकती है काशी : मोदी

Kashi can show the world the direction to fight the coronavirus
Kashi can show the world the direction to fight the coronavirus

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के लोगोंं के साथ संवाद किया और उन्हे कोरोना वायरस के साथ लड़ने की कटिबद्धता के लिये प्रेरित किया।

मोदी ने बुधवार शाम वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये शहर के लोगों के संवाद करते हुये कहा महाभारत का युद्ध 18 दिन लड़ा गया था जबकि कोरोना के खिलाफ लड़ाई देश में 21 दिन चलने वाली है। हमारा प्रयास है कि निर्धारित समय सीमा में हम कोरोना के खिलाफ जंग जीत लेंगे।

उन्होने कहा नवरात्र के पहले दिन मां शैलपुत्री की आराधना होती है। वह दया और करूणा की प्रतिमूर्ति है। उन्हे प्रकृति की देवी भी कहा जाता है। जब देश संकट के दौर से गुजर रहा है, उनके आर्शीवाद की हमें बहुत जरूरत है। हम प्रार्थना करते है कि उनकी कृपा से हमें इस संकट से मुक्ति मिलेगी।

मोदी ने कहा काशी संकट की इस घड़ी में हर किसी को दिशा दिखा सकता है। काशी का अर्थ सिर्फ शिव है। संकट के इस दौर में यहां के लोग पूरी दुनिया को पाठ पढा सकते है। काशी का अनुभव सनातन और अंतहीन है और इसीलिये लाकडाउन के मौके पर काशी पूरे देश को संयम,समन्वय और संवेदनशीलता का पाठ पढा सकता है। काशी देश को आपसी तालमेल,शांति,धैर्य की सीख दे सकता है। काशी देश को ध्यान,सेवा और समाधान दे सकता है।

प्रधानमंत्री ने एक सवाल के जवाब में कहा महाभारत का युद्ध 18 दिन में जीता गया था और आज पूरा देश कोरोना के खिलाफ लड़ रहा है। हम उम्मीद करते है कि यह लड़ाई 21 दिन में जीत ली जायेगी। काशी का सांसद होने के नाते मुझे इस समय आप लोगों के बीच होना चाहिये लेकिन आप दिल्ली में जारी गतिविधियों से भलीभांति वाकिफ है। सारे व्यस्त कार्यक्रम के बावजूद मै अपने साथियों से वाराणसी की यथास्थिति समय समय पर जानता रहता हूं।

सामाजिक कार्यकर्ता मोहिनी झांवर ने चिकित्सा कर्मियों और अन्य मोर्चो पर डटे स्टाफ के बारे में सवाल किया वहीं कपडा व्यवसायी अखिलेश खेमका ने असंगठित क्षेत्रों में कार्यरत श्रमिका से जुड़ी समस्यायों को लेकर मोदी से बात की।

मोदी ने सामाजिक दूरी बनाये रखने की जरूरत पर बल दिया और हेल्पलाइन नम्बर देते हुये कहा कि 9013151515 व्हाट्सएप नम्बर पर सही जानकारी मिल सकेगी।