पकड़ा गया पाकिस्तान के लिए जासूसी करने वाला कश्मीरी BSF जवान

अहमदाबाद/भुज। गुजरात पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने सरहदी ज़िले कच्छ में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) में तैनात कश्मीर के मूल निवासी एक जवान को पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में आज गिरफ़्तार कर लिया।

एटीएस की ओर से मिली आधिकारिक जानकारी के अनुसार मूल रूप से कश्मीर के राजौरी ज़िले के सरोला गांव निवासी मोहम्मद सज्जाद को सोमवार को भुज में बीएसएफ मुख्यालय से पकड़ा गया। वह पैसे के एवज़ में पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई को बीएसएफ के बारे में संवेदनशील सूचनायें भेजा करता था। वह 2012 में बीएसएफ में भर्ती हुआ था और उससे पहले पाकिस्तान भी गया था और वहां क़रीब डेढ़ महीने तक रहा था।

कच्छ ज़िले में बीएसएफ की 74 वीं बटालियन की ए कंपनी में तैनात सज्जाद को जासूसी के एवज़ में पाकिस्तान से पैसे मिलते थे जिसे वह अपने भाई वाज़िद और अन्य परिचित इक़बाल के बैंक खाते में मंगाया करता था। उनसे सम्भवतः उम्र सीमा पार कर जाने के बाद फ़र्ज़ी उम्र प्रमाण पत्र के आधार पर बीएसएफ में प्रवेश किया था।

इससे पहले वह त्रिपुरा में तैनात था। उसके पास से दो मोबाइल फ़ोन भी बरामद किए गए हैं। जिस नम्बर से उसने गुप्त सूचनाएं भेजी हैं उसका सीम उसके नाम से ही है। वह व्हाटस ऐप के ज़रिए सूचनायें पाकिस्तान भेजता था। बताया जाता है कि वह पाकिस्तान में जिसे सूचनायें भेजता था उसे ‘चचा’ के नाम से सम्बोधित करता था।

पूरे मामले की विस्तृत पड़ताल की जा रही है। इस बात की भी जांच की जा रही है कि वह किसी षड्यंत्र के तहत बीएसएफ में शामिल हुआ था अथवा बाद में वह पैसे की लालच में जासूस बन गया।