कटनी-चोपन पैसेंजर ट्रेन के दो डिब्बे पटरी से उतरे, दो दर्जन यात्री घायल

Katni-Chopan passenger train derails in Madhya Pradesh, 12 people injured

कटनी। मध्यप्रदेश में कटनी जिले के सलेहना रेलवे स्टेशन के समीप एक पैसेंजर ट्रेन के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने के चलते दो डिब्बे पटरी से उतर गए जबकि तीन झुक गए जिससे दो दर्जन यात्री घायल हो गए हैं। इनमें से दो की हालत गंभीर है। घटना के बाद बचाव दल मौके पर पहुंच गया है।

रेलवे अधिकारियों के अनुसार कटनी से चोपन की ओर जाने वाले एक पैसेंजर ट्रेन के दो डिब्बे कल रात सलेहना स्टेशन के समीप उतर गए जिससे दो दर्जन यात्रियों की घायल होने की सूचना है। इनमें से दो की हालत गंभीर हैं। घायलों को अस्पताल ले जाया गया है।

घटना के बाद कटनी और जबलपुर से भेजी गई दुर्घटना गाडी मध्य रात्रि के बाद मौके पर पहुंच गई और ट्रेन में यात्रियों के फंसे होने की संभावना के मद्देनजर राहत कार्य में जुट गई।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक सलेहना स्टेशन से कुछ ही दूर चलने पर ट्रेन हादसाग्रस्त हो गइ। रेलवे अधिकारियों की प्रारंभिक जांच में पता चला है कि रेलवे पटरी टूटी थी, जिसके चलते यह हादसा हुआ। हालांकि घटना के वक्त ट्रेन की ज्यादा रफ्तार नहीं थी। इसलिए बड़ा हादसा टल गया, लेकिन अचानक जोरदार झटका लगने से यात्री घबरा गए। किसी की समझ में नहीं आ रहा था कि क्या हो गया।

अंधेरे की वजह से वहां अफरा तफरी मच गई। यात्रियों ने ही एक दूसरे की मदद से घायलों को निकाला। रेलवे जोन जबलपुर के जनसंपर्क अधिकारी गुंजन गुप्ता ने ट्रेन हादसे की पुष्टि की है। इस बीच न्यू कटनी जंक्शन आरपीएफ टीआई आरएन कटारिया भी पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने बताया कि दुर्घटना राहत गाड़ी से घायलों को कटनी के जिला अस्पताल लाया गया।

पैसेन्जर ट्रेन के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने के कारण कटनी-सिंगरौली रेलखण्ड के डाउन ट्रैक पर रेल यातायात ठप रहा। दोपहर बाद तक रेल ट्रेक सुधरने की संभावना है। ट्रैक के क्षतिग्रस्त होने के कारण जबलपुर से हावड़ा जाने वाली शक्तिपुंज एक्सप्रेस के मार्ग में परिवर्तन किया गया है।

इसके अलावा भोपाल-सिंगरौली ट्रेन को कटनी-मुड़वारा से सिंगरौली तक रद्द किया गया है। निजामुद्दीन सिंगरौली ट्रेन भी कटनी मुड़वारा तक आएगी। संभावना है कि दोपहर बाद तक ट्रेक दुरुस्त हो जाएगा और रेल यातायात शुरू हो जायेगा। फिलहाल ट्रेक दुरुस्त करने के प्रयास किए जा रहे हैं।