पुष्कर धामी की हार से दुखी खटीमा विस क्षेत्र के ग्रामीणों ने ली सांकेतिक जल समाधि

नैनीताल। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की खटीमा विधानसभा सीट से पराजय से दुखी क्षेत्र के आधा दर्जन से अधिक सीमांत गांवों के ग्रामीणों ने शनिवार को प्रायश्चित स्वरूप शारदा नहर में सांकेतिक रूप से सामूहिक जल समाधि ली। धामी ने इस मौके पर ग्रामीणों को संबोधित कर उनके प्यार के लिए आभार जताया और कहा कि वे हमेशा उनके साथ हैं।

पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत उधमसिंह नगर जनपद के खटीमा विधानसभा के अंतर्गत आने वाले सीमांत मेलाघाट, झाऊ, परसा, सिसैया, बंधा, बलुआ, खैरानी, बगुलिया, खिलड़िया गांवों के लोग सुबह ही 22 पुल खिलड़िया शारदा नहर में जमा हुए। इनमें अधिक संख्या में महिलाएं शामिल थीं। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री की हार के लिए प्रायश्चित किया और इससे दुखी होकर सांकेतिक रूप से सामूहिक जल समाधि ली।

इस दौरान सभी ग्रामीण फूलों की माला पहनकर एक साथ शारदा नहर के बीच में पानी में खड़े रहे और प्रायश्चित किया। इस मौके पर रामायण प्रसाद ने कहा कि मुख्यमंत्री की हार से सभी ग्रामीण बेहद आहत हैं। धामी सदैव क्षेत्र के विकास के लिए तत्पर रहे हैं। उनकी हार से सभी ग्रामीण आहत हैं, इसलिए हार की जिम्मेदारी लेते हुए प्रायश्चित के रूप में सांकेतिक जल समाधि लेने का निर्णय लिया है। इस दौरान स्थानीय प्रशासन की ओर से जल पुलिस और सुरक्षा के अन्य सभी पुख्ता इंतजाम किए गए थे।

यह मामला जब धामी के संज्ञान में आया तो उन्होंने मौके पर जुटे ग्रामीणों को मोबाइल फोन पर संबोधित करते हुए ग्रामीणों के स्नेह के लिए उनका आभार जताया और कहा कि हार-जीत तो चुनाव का हिस्सा है। वह उनकी भावनाओं को समझते हैं। वह क्षेत्र के विकास के लिए हमेशा उनके साथ रहेंगे, जिन विकास योजनाओं की उन्होंने घोषणा उन्होंने की है, उसको अवश्य पूरा करेंगे। उन्होंने ग्रामीणों को बाढ़ से राहत और सुरक्षा का आश्वासन भी दिया।