सीकर के विख्यात खाटूश्यामजी का मेला 27 फरवरी से

सीकर। राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त खाटू श्याम जी का वार्षिक फाल्गुन मेला 27 फरवरी से सात मार्च तक खाटू में भरेगा।

इस मेले के लिए प्रशासनिक तैयारियां शुरू हो गई है। इस बार मेले में सम्पूर्ण व्यवस्था एक समान रहेगी। नयी व्यवस्था के तहत नौ सेक्टर बनाए जाएंगे, जिसमें तीन हजार पुलिसकर्मी सुरक्षा व्यवस्था के लिए तैनात किए जाएंगे। मेले के दौरान रींगस मार्ग को वाहनविहीन क्षेत्र घोषित किया जाएगा और रींगस से दांता जाने वाले वाहन रानोली, कोछोर होते हुए दांता जाएंगे।

मेले के आयोजन से जुड़े सूत्रों के अनुसार मेले में धर्मशाला में आने वाले वाहनों के पास पुलिस से पुष्टि के बाद बनेंगे और एक धर्मशाला में एक ही वाहन का पास मिलेगा। ग्रामीण एवं दुकानदार पहचानपत्र दिखाकर अपने गंतव्य स्थल पर जा सकेंगे। श्याम बाबा के लक्खी मेले में सेवा देने वाले करीब तीन हजार स्वयंसेवकों के पास इस बार पुलिस बनाएगी। ये स्वयंसेवक पुलिस मित्र के नाम से पहचाने जाएंगे।

मेले में 27 फरवरी से ही मंदिर से श्याम कुंड मार्ग बंद कर दिया जाएगा। उधर, राजस्थान पथ परिवहन निगम ने भी देशभर से आने वाले लाखों श्रद्धालुओं के लिए आवागमन के लिए विशेष बसों का इंतजाम किया है। मेले की योजना का विवरण मुख्यालय भेज दिया गया है।

सीकर डिपो का मेले के दौरान एक करोड़ रुपए लक्ष्य राजस्व प्राप्ति का रखा गया है। निगम मेले के दौरान नीमकाथाना, खेतड़ी, नारनौल, कोटपुतली, अलवर, झुंझुनूं, राजगढ़ हिसार मार्ग पर हर समय रोडवेज बस उपलब्ध कराएगी।

सराय काले खां, दिल्ली, आईटीबी दिल्ली, धौला कुआं दिल्ली मार्ग पर वाहनों की विशेष व्यवस्था रहेगी। बसों के संचालन और राजस्व रिसाव रोकने के लिए दो जांच चौकिया बनाई जाएंगी। मेले में रोडवेजकर्मियों पहचान पत्र के साथ ही नेम प्लेट लगानी होगी।