खेसारीलाल यादव और काजल राघवानी की अंतिम फिल्म होगी ‘लिट्टी चोखा’

मुंबई। भोजपुरी स्टार खेसारीलाल यादव और काजल राघवानी की सुपरहिट जोड़ी की अंतिम फिल्म ‘लिट्टी चोखा’ हो सकती है।

खेसारीलाल यादव और काजल राघवानी की जोड़ी दर्शकों के बीच काफी फेमस है। चाहे बात फ़िल्मी पर्दे की करें या रियल लाइफ में, इनके फैंस दोनों को साथ देखना खूब पसंद करते हैं। कहा जा रहा है कि काजल और खेसारी के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। इससे लगता है कि 9 अप्रैल को रिलीज होने वाली भोजपुरी फिल्म ‘लिट्टी चोखा’ दोनों की अंतिम फिल्म साबित हो सकती है।

काजल राघवानी ने कहा कि आज मैं जिस मुकाम पर हूं, वो मैंने कड़ी मेहनत से हासिल किया है। मुझे खेसारीलाल यादव या किसी अन्य कलाकार के साथ काम करने में कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन खेसारीलाल यादव हर जगह मुझे बदनाम कर रहे हैं कि मैंने उन्हें (खेसारीलाल यादव) धोखा दिया है। जबकि, ऐसा कुछ नहीं है। मुझे गलत तरीके से प्रजेंट किया जा रहा है।

मैं गुजराती हूं, शायद इसी वजह से मुझे टारगेट किया जा रहा है। मेरे स्टारडम में खेसारीलाल यादव का कोई भी योगदान नहीं है। मेरे करियर में पवन सिंह का योगदान काफी ज्यादा है। गाना ‘छलकत हमरो जवनिया’ में मेरे और पवन सिंह के रोमांस को पब्लिक ने खूब पसंद किया था। आज भी यह गाना भोजपुरी में सबसे सुना जाने वाला गाना है।

काजल राघवानी ने कहा कि ऐसा नहीं है कि मैं खेसारी और पवन सिंह के बीच किसी एक को चूज कर रही हूं, लेकिन सच यही है। मैंने अपने करियर में कभी भी किसी के बारे में गलत नहीं बोला। मैंने खेसारीलाल पर किसी तरह के आरोप नहीं लगाए और नहीं कहा कि उन्होंने मुझे धोखा दिया। फिर भी खेसारी लाल मेरे बारे में बहुत कुछ बोल रहे हैं, जो गलत है। मुझे लाइव आकर रोने की आदत भी नहीं है। मेरे लिए संस्कार और काम सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। मैं सुलझी हूं और समझदार भी हूं। हमें भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री को आगे ले जाने के लिए काम करना और सोचना है।

काजल ने खेसारीलाल के साथ विवादों के बीच अपनी आने वाली फिल्म ‘लिट्टी चोखा’ को लेकर कहा कि मैं काम के लिए समर्पित हूं। मैं खेसारी लाल को दुश्मन नहीं मानती हूं। मैं एक्टर हूं और मुझे काम करने में मजा आता है। प्रोड्यूसर और डायरेक्टर प्रमोशन की बात कहेंगे तो मुझे करने में कोई दिक्कत नहीं होगी।