जानिए इन जेल में क्या है खास, बतौर टूरिस्‍ट खा सकते है जेल की हवा

 Know what is special in these jails, as the cameraman can eat

Know what is special in these jails, as the cameraman can eat

वैसे तो हम सबने अपराध के बाद कैदियों को जेल जाते देखा है, पर कभी बिना अपराध के जेल में घूमने जाते नहीं देखा। जी हां, आज हम आपको ऐसे जेल बताने जा रहे है जहां आप बिना कोई अपराध किए भी बतौर टूरिस्‍ट जेल की हवा खा सकते है।

हिजली जेल

हिजली जेल वेस्‍ट बंगाल में स्थित है। इस जेल को हिजली डेटिनेशन कैंप के तौर पर 1930 में तैयार किया गया था। 1931 में हिजली फायरिंग कांड बहुत प्रसिद्ध है। स्‍वतंत्रता के बाद 1951 में यहीं पर देश की पहली आईआईटी की नीव पड़ी। इस समय यह आईआईटी खड़गपुर के कैंपस में स्थित है।

Video:VIDEO: बजरंग बली की आंखों से टपक 

यरवड़ा जेल

महाराष्‍ट्र में बनी यरवड़ा जेल भारत की सबसे सुरक्षित जेलों में से एक है। ये महाराष्‍ट्र की सबसे बड़ी जेल है। इस जेल को अंग्रेजों ने 1871 में बनवाया था। ये जेल इसलिए भी प्रसिद्ध है क्‍योंकि स्‍वतंत्रता आंदोलन के दौरान 30 से 40 के दशक में महात्‍मा गांधी को अंग्रेजों ने इसी जेल में डाला था। यहां एक टेक्‍स्‍टाइल मिल और एक रेडियो स्‍टेशन भी है।

तिहाड़ जेल

तिहाड़ जेल राजधानी दिल्‍ली में स्थित है। यह साउथ ऐशिया की सबसे बड़ी जेल है। ये जेल सिर्फ कैदियों को सजा देने के लिए नहीं बल्कि कैदियों के सुधार और उनको उच्‍च शिक्षा दिए जाने कि लिए भी प्रसिद्ध है। दिल्ली स्थित इस जेल में आप जेल कैंटीन के साथ जेल के कुछ इलाके घूम सकते हैं।

VIDEO: जाना पसंद करेंगे आप आईलैंड आॅफ डॉल, जहां डराती हैं गुड़ियाएं

 

 

राजामुंदरी सेंट्रल जेल

राजा मुंदरी सेंट्रल जेल भारत की सबसे पुरानी जेलों में से एक है। इस जेल का निर्माण डचों ने 1602 में किले के रूप में करवाया था। 1864 में इस किले को जेल में तब्‍दील कर दिया गया।  इस जेल के अंदर कैदियों को सुधारने के लिए और उनके सुनहरे भविष्‍य के लिए कुछ कोर्स भी चलाए जाते हैं। इतना ही नहीं यहां पर समय-समय पर कैदियों के विकास के लिए प्रोडे‍क्टिव एक्‍टिविटी भी की जाती हैं।

VIDEO: बंदर जो लेता है सेल्फी देखकर आप भी हो जाएंगे हैरान

मद्रास सेंट्रल जेल

चेन्‍नई में बनी मद्रास सेंट्रल जेल भारत की सबसे पुरानी जेलों में से एक है। इस जेल को 2009 में ध्‍वस्‍त कर दिया गया। ऐसा माना जाता है ये जेल उन कैदियों का घर थी जो काला पानी की सजा काट कर आते थे। ये ही नहीं स्‍वतंत्रता सैनानी सुभाष चंद्र बोस और वीर सावरकर भी इस जेल में रहे हैं।

नैनी सेंट्रल जेल

उत्‍तर प्रदेश में बनी नैनी सेंट्रल जेल भी काफी प्रसिद्ध है। यूपी की नैनी जेल इसलिए प्रसिद्ध है क्‍योंकि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पं जवाहर लाल नेहरू ने यहां कैदी के रूप में एक दिन गुजारा था। इस जेल में बनाई गई लकड़ी के फर्नीचर का इस्‍तेमाल इलाहबाद हाईकोर्ट और जिला अदालतों में किया गया।

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए,  और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE