कोलकाता पुलिस ने मोहम्मद शमी के गांव में डाला डेरा

अमरोहा। घरेलू विवाद और मैच फिक्सिंग के गंभीर आरोपों का सामना कर रहे भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी के पैतृक गांव में कोलकाता पुलिस ने सोमवार को लगातार दूसरे दिन ग्रामीणों से जानकारी जुटाई।

पत्नी हसीन जहां के आरोपों से घिरे क्रिकेटर मोहम्मद शमी के परिजन दूसरे दिन भी भूमिगत रहे। हसीन जहां की रिपोर्ट दर्ज हो जाने के बाद शमी के घर पिछले छह दिन से ताला लटका हुआ है। कोलकाता क्राइम ब्रांच की चार सदस्यीय टीम सोमवार को सारे दिन गांव में रही। टीम ने लगभग बीस-पच्चीस महिलाओं से पूछताछ की।

पूछताछ में लगभग दस बिंदुओं को शामिल किया गया है। क्राइम ब्रांच टीम ने शमी के घर का पूरा नक्शा तैयार किया। घर के हर एक कोने कोने को कैमरे में कैद किया। शमी की संपत्ति, सैकड़ों बीघा जमीन का रिकॉर्ड की बारीकी से निरीक्षण किया। इससे पहले डिडौली थाने में लगभग दो घंटे शमी और उनके परिवार के चार सदस्यों के आपराधिक रिकॉर्ड से संबंधित जानकारी जुटाई।

शमी के बडे भाई हसीब के खिलाफ वांछित गोकशी तस्करों को पुलिस से जबरन छुडाने और दरोगा को मारपीट कर गंभीर रूप से घायल करने के मामले में दर्ज अभियोग की छानबीन की।

गौरतलब है कि मामले की गंभीरता को मद्देनजर रखते हुए कोलकाता पुलिस ने कार्रवाई से पहले उत्तर प्रदेश पुलिस महानिदेशक कार्यालय को फैक्स द्वारा शमी के घर छापेमारी की कार्रवाई की सूचना दी थी। इसके बाद पुलिस अधीक्षक अमरोहा ने सुरक्षा के दृष्टिगत पुलिस फोर्स उपलब्ध कराया था।

इस विवाद के चलते मोहम्मद शमी को बीसीसीआई ने सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट से बाहर रखा है तो आईपीएल में उनके खेलने पर संशय बरकरार है। हालांकि बीसीसीआई पहले ही स्पष्ट कर चुकी है कि विवादों में घिरे तेज गेंदबाज़ मोहम्मद शमी की आगामी इंडियन प्रीमियर लीग में भागीदारी बीसीसीआई की भ्रष्टाचार रोधी इकाई (एसीयू) प्रमुख नीरज कुमार की जांच रिपोर्ट पर निभर्र करेगी।प्रशासकों की समिति (सीओए) प्रमुख विनोद राय ने नीरज कुमार को इस क्रिकेटर पर लगे भ्रष्टचार के आरोपों की जांच करने का निर्देश दिया है।

शमी की पत्नी हसीन जहां ने इस गेंदबाज पर ब्रिटेन के व्यवसायी से पाकिस्तानी महिला के जरिये धनराशि लेने का आरोप लगाया था।