उदयपुर के कन्हैयालाल हत्याकांड के विरोध में कोटा, अलवर,बारां बंद रहा

 

कोटा। राजस्थान के उदयपुर में पिछले दिनों कन्हैयालाल की हत्या के विरोध में शनिवार को कोटा शहर सर्व समाज की अपील पर बन्द रहा।

कोटा में आज व्यापारियों ने स्वैच्छा से अपनी दुकानें- कारोबार बंद रखा। सभी व्यापार संगठनों ने बंद का समर्थन किया था। शहर में बंद का असर सुबह से ही देखने को मिला और शहर के सभी बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ था।

हालांकि सार्वजनिक परिवहन के साधनों मिनी बस, टेंपो, ऑटो सिटी, सिटी बस आदि को बंद से मुक्त रखे जाने के कारण लोगों को आवागमन में किसी प्रकार की असुविधा का सामना नहीं करना पड़ा।

शहर सहित जिले के सभी एक सौ से भी अधिक पेट्रोल पंपों को बंद से मुक्त रखा गया था, लेकिन भामाशाह क्रषि मंडी में कारोबार नही हुआ। कोचिंग संस्थाओं सहित जिन विद्यालयों में आज प्रतियोगिता परीक्षा आयोजित हो रही है, उनको छोड़कर कोटा शहर के सभी विद्यालय बंद रहे।

बंद के दौरान पुलिस के कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए थे। पुलिस एवं आरएसी जवानों की टोलियां सुबह से ही अधिकारियों के नेतृत्व में शहर भर में गश्त कर रही थी। शहर के विभिन्न चौराहों पर वज्र वाहनों, पुलिस के जवानों को तैनात किया गया था।

इसके अलावा परकोटे के भीतर के संवेदनशील क्षेत्रों में सुरक्षा व्यवस्था के कड़े बंदोबस्त किए गए थे लेकिन कहीं से भी अब तक अप्रिय घटना का कोई समाचार नहीं मिला है।

नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने धर्मगुरूओं, सामाजिक संगठनों, समाज सवियों और जनप्रतिनिधियों से अपील की है कि वे सामाजिक सौहार्द और शांतिपूर्ण वातावरण बनाए रखने में हर संभव सहयोग करें।

उदयपुर हत्याकांड के विरोध में अलवर रहा बंद

उदयपुर में टेलर कन्हैया लाल की तालिबानी अंदाज में की गई हत्या के विरोध में सर्व समाज और व्यापारियों की ओर से आज अलवर बंद किया गया। अलवर बंद को सफल बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने शहर में शांतिपूर्ण बाजार बंद आह्वान किया।

बंद को देखते हुए पुलिस और जिला प्रशासन ने पूरी तैयारी की है। पुलिस और जिला प्रशासन ने इससे पहले अलवर शहर में फ्लैग मार्च निकालकर शांति और सद्भाव बनाए रखने का संदेश दिया।

भाजपा के जिला अध्यक्ष संजय नरूका ने बताया कि जिस तरह उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की बर्बरता पूर्वक हत्या की गई है उसे पूरा राजस्थान ही नहीं पूरा देश उद्धेलित है। उन्होंने आरोप लगाया कि गंगा जमुना संस्कृति की दुहाई देने वाले वह लोग कौन हैं और बाहर निकालने का काम भाजपा कर रही है। उन लोगों को चिन्हित करने का प्रयास किया जा रहा है जो ऐसे अपराधों को बढ़ावा देते हैं।

उन्होंने सरकार से मांग की कि जिस तरह कन्हैया पर वार किया गया है उसी तरह अपराधियों को चौराहे पर हलाली कर ऐसी मानसिकता पर प्रहार करना होगा।

पूर्व मंत्री हेमसिंह भड़ाना ने बताया कि सर्व समाज एवं व्यापारियों ने विरोध स्वरूप अलवर बंद किया है और अलवर बंद की पूरी तरह शांतिपूर्ण तरीके से मॉनिटरिंग की जा रही है और यह बंद इस घटना के विरोध स्वरूप किया गया है।

इधर, पुलिस प्रशासन अलवर बंद के दौरान अभय कमांड सेंटर के 350 सीसी टीवी कैमरों के माध्यम से सुरक्षा व्यवस्था पर विशेष निगरानी रखी जा रही है बंद को देखते हुए अलवर शहर में 500 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं और सभी थाना क्षेत्रों की गश्त व्यवस्था को भी मजबूत किया गया है।

इस बंद को देखते हुए बिजली विभाग के अधिकारियों को भी निर्देशित किया गया है कि बंद के दौरान बिजली सप्लाई को बंद नहीं किया जाए जिससे अभय कमांड सेंटर के सीसीटीवी कैमरों से ऑनलाइन सुरक्षा व्यवस्था की मॉनिटरिंग की जा सके।

उदयपुर हत्याकांड के विरोध में बारां रहा बंद

उदयपुर में कन्हैयालाल हत्याकांड के विरोध में जिला मुख्यालय बारां सहित अंता में शनिवार को बंद पूर्णतया सफल एवं शांति पूर्ण रहा। बंद के आव्हान को हिन्दू संगठनों समेत भारतीय जनता पार्टी एवं व्यापार महासंघ ने समर्थन किया था।

दौरान शहर में कलेक्टर नरेंद्र गुप्ता, जिला पुलिस अधीक्षक कल्याणमल मीणा, पुलिस उपाधीक्षक मनोज गुप्ता मॉनिटरिंग करते रहे। शहर में विशेष कर संवेदनशील ईलाको में पुलिस बल एवं आरएसी के जवान तैनात रहे।

भाजपा नेता आंनद गर्ग, पूर्व विधायक प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष हेमराज मीणा, पूर्व विधायक रामपाल मेघवाल, राकेश जैन ने हत्यारों को फांसी देने एवं ऐसी घटना की पुनरावृति न होने की चेतावनी देते हुए राज्य की बिगड़ती कानून व्यवस्था पर मौजूदा सरकार को दोषी ठहराया।

जिला कलेक्टर नरेंद्र गुप्ता एवं जिला पुलिस अधीक्षक कल्याणमल मीणा ने संवेदनशील कहे जाने वाले धर्मादा चौराह का राउंड लेने के दौरान पत्रकारों को बताया कि जिले में बारां, अंता में बन्द के दौरान पूर्णतया शांति रही।