सिरफिरे प्रेमी ने शादीशुदा गर्लफ्रेंड के हाथ की नस काटी, जहर खाकर दी जान

कोटा। विवाहित गर्लफ्रेंड के प्यार में सिरफिरे बॉयफ्रेंड ने जहर खा लिया। इसके बाद वह गर्लफ्रेंड के घर पहुंचा। घर में वह अकेली थी क्योंकि पति उदयपुर गया हुआ था। उसकी भी बेटियां अपनी नानी के घर गई हुई थी।

इस बीच बॉयफ्रेंड अपनी गर्लफ्रेंड के हाथ की नस काट डाली। स्थिति बिगड़ती देख गर्लफ्रेंड ने एंबुलेंस बुलाने को कहा पर बॉयफ्रेंड ने इनकार कर दिया। वह तो बस यही कहता रहा कि आज तुम्हें और मुझे साथ ही मरना है। कुछ ही देर बाद वह बेहोश हो गया।

पड़ोसियों की मदद से उसे हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। गर्लफ्रेंड का इलाज कोटा के हॉस्पिटल में चल रहा है। चित्तौड़गढ़ के रावतभाटा के हाट चौक बस स्टैंड इलाके में गौरव रहता है।

रावतभाटा के थानाधिकारी मदनलाल ने बताया कि पांच साल पहले 36 वर्षीय महिला से गौरव की मुलाकात हुई थी। दोनों रावतभाटा परमााणु बिजली घर में संविदाकर्मी थे। जान-पहचान के बाद इन दोनों के बीच करीबियां बढ़ीं। गौरव महिला के घर आने-जाने लगा। मंगलवार शाम करीब चार बजे जहर पीकर गौरव महिला के घर आया। वह उल्टियां कर रहा था। गौरव ने मौका देख प्रेमिका के हाथों की नस काट दी, जिसके बाद खून बहने लगा।

पुलिस ने बताया कि महिला ने एम्बुलेंस बुलाने की बात कही तो गौरव बोलने लगा- आज तुम्हें और मुझे साथ ही मरना है। महिला ने अपनी छोटी बच्चियों का भी हवाला दिया। लेकिन वह कमरे से बाहर नहीं जाने दिया। कुछ देर में जैसे ही जहर का असर तेज होने लगा गौरव बेहोश हो गया।

इसके बाद पड़ोसियों की मदद से उसे रावतभाटा के सरकारी अस्पताल ले गए, जहां उसकी मौत हो गई। महिला को भी रावतभाटा के सरकारी हॉस्पिटल में एडमिट किया था। इसके बाद उसे कोटा रेफर कर दिया गया, जहां इलाज चल रहा है।

महिला ने बताया कि गौरव कई दिनों से उसे परेशान भी कर रहा था। महिला की वर्ष 2004 में लव मैरिज हुई थी। पति का जॉब के सिलसिले में उदयपुर आना-जाना था। महिला की दो बेटियां हैं। एक की उम्र 10 और दूसरी की 12 साल है। गौरव रावतभाटा के सरकारी हॉस्पिटल में संविदा पर वार्ड बॉय था। महिला निजी स्कूल में रिसेप्शनिस्ट है।

पुलिस ने बताया कि गौरव के पिता गजेंद्र सिंह ने भी उज्जैन में सुसाइड किया था। परिवार में अब गौरव का बड़ा भाई सुमित और मां हैं। मां बाड़ोलिया ग्राम पंचायत में सहायक कर्मचारी के पद पर तैनात हैं। रावतभाटा पुलिस ने बुधवार को कोटा से फॉरेंसिक टीम को बुलाया। गौरव की मां ने महिला और उसके परिजनों पर हत्या का आरोप लगाया है। रावतभाटा थाने में शिकायत भी दर्ज कराई गई है।