जयपुर : गर्लफ्रेंड से परेशान नीट स्टूडेंट ने ट्रेन के आगे लगाई छलांग

जयपुर/कोटा। राजस्थान के कोटा में नीट की तैयारी कर रहे एक स्टूडेंट ने जयपुर में ट्रेन के आगे कूदकर सुसाइड कर ली। मृतक ने आत्महत्या से पहले ऑडियो मैसेज रिकॉर्ड कर दोस्त को भेजा। मैसेज में वह रोते हुए खातीपुरा रेलवे स्टेशन पर आत्महत्या करने की बात कह रहा है। स्टूडेंट के घरवालों ने बांदीकुई की एक लड़की और उसके परिवार पर बेटे को सुसाइड के लिए उकसाने का मामला दर्ज कराया है।

घटना गुरुवार शाम करीब 5.15 बजे की है। पुलिस ने बताया कि जयपुर के राहुल जाटव ने गर्लफ्रेंड से परेशान होकर आत्महत्या की है। शुक्रवार दोपहर पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। दोस्त को भेजे मैसेज में स्टूडेंट ने 20 मिनट बाद माता-पिता को मैसेज भेजने के लिए कहा। इसके बाद देर रात सुसाइड नोट के आधार पर मृतक के पिता ने खोह नागोरियान थाने में आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज करवाया।

पुलिस ने बताया कि आशा विहार लुनियावास खोह नागोरियान निवासी राहुल जाटव के पिता पतिराम निजी कॉलेज में लाइब्रेरियन है। राहुल कोटा में नीट की तैयारी कर रहा था। गुरुवार शाम करीब 5:15 बजे राहुल खातीपुरा रेलवे स्टेशन पहुंचा। रेलवे ट्रैक पर ट्रेन को आते देखकर उसके छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली। युवक के आत्महत्या की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। कुछ देर बाद परिजन भी वहां पहुंच गए। पुलिस ने मौका-मुआयना कर सबूत जुटाए।

रिकॉर्डिंग में राहुल ने कहा कि प्रिया और उसके परिवार वाले मुझे काफी टॉर्चर कर रहे है। प्रिया की ओर से आत्महत्या कर मामले में फंसाने की धमकी दी जा रही है। मैं ऐसा वैसा कुछ करना नहीं चाहता था, लेकिन मुझे ऐसा करना पड़ रहा है। मैं इन लोगों के टॉर्चर से परेशान हूं। मैं आत्महत्या कर रहा हूं। मेरी रिकॉर्डिंग 15-20 मिनट बाद मेरे मम्मी-पापा को भेज देना। मम्मी-पापा के अलावा किसी को मत भेजना।

मृतक के पिता पतिराम ने बांदीकुई निवासी प्रिया जांगिड़, उसकी पिता दिनेश, मम्मी पुष्पा, भाई जीतराम, ताऊ बाबूलाल और बुआ गीता के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज करवाया है। उन्होंने बताया कि पिछले करीब एक साल से कोटा में रहकर राहुल नीट की तैयारी कर रहा था। कुछ समय से राहुल और प्रिया मोबाइल पर बातचीत करते थे।

प्रिया के घरवालों से बातचीत कर राहुल से लिखित में माफी मंगवाई। जिसके बाद राहुल को घर लेकर आ गए। 19 मई को प्रिया और उसके परिजनों ने कॉल कर राहुल को धमकाया। पांच लाख रुपए दो वरना केस दर्ज कराएंगे। तुझे जेल भिजवाकर छोड़ेंगे। राहुल को कॉल करने के साथ ही उन्हें भी कॉल कर 5 लाख के इंतजाम कर राहुल को लेकर बांदीकुई आने की कहा था। इसके बाद राहुल ने आत्महत्या कर ली।