कृष्ण जन्माष्टमी पर करें ये महाउपाय, पूर्ण होगी सभी मनोकामनाएं

Krishna Janmashtami ke upaye
Krishna Janmashtami ke upaye

कृष्ण जन्माष्टमी पर करें ये उपाय | भाद्रपद मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि और रोहिणी नक्षत्र में भगवान कृष्ण का जन्म हुआ था । कृष्ण जन्माष्टमी का त्यौहार इस साल 24 अगस्त 2019 को मनाई जाएगी। मान्यता है कि भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाती है। क्योंकि भगवान कृष्ण को भगवान विष्णु के ही अवतार हैं। इसके अलावा भगवान कृष्ण का ध्यान, व्रत और पूजा करने से भक्तों को उनकी विशेष कृपा प्राप्ति होती है। इस दिन लोग रातभर मंगल गीत गाते हैं और भगवान कृष्ण का जन्मदिन मनाते हैं जिससे प्रसन्न होकर कान्हा भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं।

कृष्ण जन्माष्टमी पर करें महाउपाय होंगी सारी मनोकामनाएं पूरी-

*कृष्ण जन्माष्टमी पर सारा दिन व्रत रखकर शुद्ध वस्त्र धारण करें और भगवान कृष्ण का कोई भजन कीर्तन अवश्य करें।

*कृष्ण जन्माष्टमी के दिन शाम के समय तुलसी के पौधे के नीचे गाय के घी का दिया जलायें और 11 बार ॐ नमो नारायणाय मंत्र का जाप करें। साबुत 108 तुलसी के पत्तों की पीले धागे में माला बनाएं और भगवान कृष्ण को पहनायें।

*रात्रि में 12:00 बजे भगवान कृष्ण के सामने गाय के घी का दीया जलायें और एक आसन पर बैठे अब शुद्ध तुलसी की माला या किसी भी माला से ॐ क्लीं कृष्णाय नमः मंत्र का पांच माला जाप करें।

*अपने मन की इच्छा बालकृष्ण को कहें और बड़े बुजुर्गों के चरण स्पर्श करें।

*कृष्ण जन्माष्टमी के दिन किसी मंदिर में भगवान के पीले रंग के कपड़े, पीले फल, पीला अनाज व पीली मिठाई दान करने से भगवान श्रीकृष्ण व माता लक्ष्मी दोनों प्रसन्न रहते हैं, उस जातक को जीवन में धन और यश की कोई भी कमी नहीं रहती है ।

*जो जातक जन्माष्टमी से शुरूआत करके कृष्ण मंदिर में लगातार सत्ताइस दिन तक जटा वाला नारियल और बादाम चढ़ाता है उसके सभी कार्य सिद्ध होते है, उसको जीवन में किसी भी चीज़ का आभाव नहीं रहता है।

*जन्माष्टमी के दिन से नित्य माथे पर पीले चंदन या केसर में गुलाबजल मिलाकर उसका टीका लगाएं। इस उपाय से जीवन में सफलता का मार्ग प्रशस्त होता है, और समाज में यश भी मिलता है