आइटम नंबर टैग पसंद नहीं करती हैं कृति सैनन

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री कृति सैनन को आइटम नंबर टैग पसंद नहीं है। कृति हाल ही में फिल्म कलंक में एक स्पेशल अपीयरेंस में नजर आईं थीं। वह इस फिल्म के गाने ‘ऐरा गैरा’ में परफॉर्म करती नजर आईं थी।

कृति को आइटम नंबर टैग से परेशानी है। कृति ने कहा कि यह अभिनेत्रियों के लिए थोड़ा अपमानजनक है। जब ऐसे ही गानों पर सलमान खान और शाहरुख खान जैसे सितारे परफॉर्म करते हैं तो उनके गानों को आइटम नंबर नहीं कहा जाता है।

कृति ने कहा कि इन सॉन्ग को लोग आइटम नंबर क्यों कहते हैं, मुझे समझ नहीं आता। ये अच्छी वाइब्स नहीं देता है। ये सिर्फ डांस नंबर्स हैं जो फिल्म के एंटरटेन्मेन्ट फैक्टर के चलते फिल्मों में होता है और इन सॉन्ग्स को ऑडियन्स पसंद करती है, तो क्यों नहीं इन सॉन्ग्स की तरफ थोड़ा बेहतर नजरिया अपनाया जाए और ऐसे लोगों के प्रति भी पॉजिटिव रवैया दिखाएं जो इन गानों को बना रहे हैं।

जब आमिर सर, शाहरूख सर और सलमान सर फिल्मों में स्पेशल परफॉर्मेंस देते हैं तो उन्हें आइटम नंबर नहीं कहा जाता है, तो फिर लड़कियां के मामले में ऐसा क्यों है? इस तरह के माइंडसेट में बदलाव की जरूरत है।

कृति ने कहा कि मैं इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रही थी और मुझे ऑफर्स आए तो मैं मॉडलिंग और एक्टिंग की तरफ मुड़ गई। मुझे एहसास हुआ कि मैं ऐसा कर सकती हूं क्योंकि मैं हमेशा से ही क्रिएटिव रही हूं। मुझे डांस करना भी पसंद है। सो वो कोई भी डांस नंबर हो, वे सभी मेरे दिल के करीब हैं। इसलिए मुझे ये आइटम सॉन्ग का टैग थोड़ा बुरा लगता है। मैं भविष्य में एक डांस फिल्म में भी काम करना चाहूंगी।