कुमारस्वामी का शपथ ग्रहण समारोह तीसरे मोर्चे के बनेगा प्लेटफार्म

Kumaraswamy swearing-in ceremony to be made of third front platform
Kumaraswamy swearing-in ceremony to be made of third front platform

बेंगलुरू। कर्नाटक में बुधवार को जनता दल (सेक्युलर) नेता एवं मनोनीत मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी का शपथ ग्रहण समारोह अगले वर्ष आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ संयुक्त संघर्ष को लेकर तीसरे माेर्चे के लिए एक प्लेटफार्म बन सकता है।

जद (एस) नेता बासवराज होराट्टी ने यहां संवाददाताओं से कहा कि श्री कुमारस्वामी के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण समारोह के दौरान धर्मनिरपेक्ष दलों के नेताओं को एक मंच पर आने का मौका मिलेगा। उन्हाेंने कहा कि हम भाजपा के खिलाफ धर्मनिरपेक्ष दलों को एक मंच उपलब्ध करा रहे हैं। इनमें कांग्रेस भी शामिल है। जद (एस) ने गैर-राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के प्रमुख नेताओं को शपथ ग्रहण समारोह में आमंत्रित किया गया है।

इनमें संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन प्रमुख सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, केरल के मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, राष्ट्रीय जनता दल नेता तेजस्वी यादव, राष्ट्रीय लोकदल के संस्थापक अजीत सिंह, द्रमुक के कार्यकारी अध्यक्ष एम के स्टालिन और अभिनेता से नेता बने कमल हासन शामिल हैं।

इस मौके पर जद(एस) प्रवक्ता रमेश बाबू ने कहा कि देश में ‘अघोषित आपातकाल’ की स्थिति है तथा धर्मनिरपेक्ष दलों के लिए भावी कार्यक्रम तय करने का अब समय आ गया है।