अर्जेंटीना ने 29 साल बाद जीता ला फिनालिसिमा

लंदन। ब्रिटेन की राजधानी लंदन में स्थित वेम्बली स्टेडियम में खचाखच भरी भीड़ के सामने लियोनेल मेसी की अर्जेंटीना फुटबॉल टीम ने ला फिनालिसिमा में इटली को 3-0 से मात दी।

सात बार के बैलन डी’ओर विजेता मेसी ने बुधवार को अर्जेंटीना के साथ 11 महीनों में अपनी दूसरी अंतरराष्ट्रीय ट्रॉफी जीती। अर्जेंटीना के नंबर-10 के लिए यह जीत और भी खास इसलिये है क्योंकि अर्जेंटीना के लिये इससे पहले 1993 में अंतिम ला फिनालिसिमा डिएगो माराडोना ने जीता था, जो स्वयं भी नंबर-10 थे।

लुटारो मार्टिनेज और एंजेल डि मारिया के पहले हाफ के गोल ने अर्जेंटीना को इंग्लैंड को यूरो 2020 में हराकर 11 महीने बाद वेम्बली वापस आई इटली के खिलाफ पूर्ण नियंत्रण की स्थिति में डाल दिया।

उत्तर पश्चिम लंदन के स्टेडियम की 87,000 लोगों की भीड़ में अर्जेंटीना के हज़ारों समर्थकों के बीच कप्तान मेसी ने दो गोल सेट किए। मार्टिनेज़ ने मेसी के लो क्रॉस पास की मदद से मैच के 28वें मिनट में अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिलाई।

इसके बाद हाफ़ टाइम से ठीक पहले मार्टिनेज़ ने डि मारिया को एक पास दिया जिसे उन्होंने इटली के गोलकीपर के सर के ऊपर से नेट में पहुंचाकर टीम की बढ़त को 2-0 कर दिया।

इसके अलावा पॉलो डायबाला (90+4 मिनट) ने भी अर्जेंटीना के लिये एक गोल किया। ब्रेक से पहले इटली के लिये कुछ मौके भी बने लेकिन ब्रेक के बाद मैन ऑफ़ द मैच मेसी दूसरे हाफ़ में पूरी तरह हावी रहे।

मैच के बाद मेसी ने कहा कि यह एक बेहतरीन फाइनल था। स्टेडियम अर्जेंटीना के समर्थकों से भरा हुआ था। हमने यहां जो अनुभव किया वह बेहद खूबसूरत था। उन्होंने कहा कि आज हमारा अच्छा इम्तिहान था क्योंकि इटली एक बड़ी टीम है। हमें पता था कि मुकाबला अच्छा होने वाला है और चैम्पियन बनने के लिए यह बेहतरीन मौका है।
पिछले साल 2021 कोपा अमरीका जीतकर अर्जेंटीना ने ट्रॉफ़ी का अपना 28 साल पुराना सूखा खत्म किया था।

मैच के बाद इटली के मैनेजर रॉबर्टो मैनसिनी ने यह स्वीकार किया कि इटली को कई क्षेत्रों में सुधार करने की ज़रूरत है। मैनसिनी ने कहा कि वह हमसे अच्छा खेले। हम पहले हाफ़ में मुकाबले में बने हुए थे लेकिन ब्रेक के बाद मैच को अपनी तरफ़ पलटने में नाकामयाब रहे।