आशीष मिश्रा को पुलिस लाइन में हाजिर होने का आदेश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत के मामले में पुलिस ने केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्र टेनी के पुत्र आशीष मिश्र उर्फ मोनू के आवास पर नोटिस चस्पा कर शुक्रवार तक पुलिस लाइन में पूछताछ के लिए हाजिर होने का निर्देश दिया है।

पुलिस महानिरीक्षक लक्ष्मी सिंह ने गुरूवार को बताया कि लखीमपुर मामले के दर्ज एफआईआर में आरोपी 14 लोगों में शामिल आशीष मिश्र को पुलिस ने थाने में तलब किया है। उन्हें शुक्रवार तक का समय दिया गया है।

मिश्र के आवास में इस संबंध में नोटिस चस्पा की गई है। पुलिस मामले की तह में जाने के लिए तेजी से काम कर रही है। इस सिलसिले में कुछ लोगो से पूछताछ की जा रही है हालांकि अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है। नोटिस में कहा गया है कि आशीष शुक्रवार सुबह दस बजे पुलिस लाइन स्थित अपराध शाखा के कार्यालय में सभी साक्ष्यों के साथ हाजिर हों।

गौरतलब है कि रविवार को वाहन से कुचले जाने से चार किसानो की मौत हो गई थी जिसके बाद हिंसक भीड़ ने कार चालक और दो भाजपा कार्यकर्ताओं के अलावा एक पत्रकार की पीट पीट कर हत्या कर दी थी।

शुरूआती जांच में घटना में आशीष की भूमिका उजागर हुई थी हालांकि केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी ने अपने पुत्र की इस वारदात में भूमिका से इंकार करते हुए चुनौती दी थी कि यदि घटना में उसकी संलिप्तिता के प्रमाण मिलते हैं तो वे अपने पद से इस्तीफा दे देंगे।