लसिथ मलिंगा ने क्रिकेट से सभी प्रारूपों से लिया संन्यास

कोलंबो। अनुभवी श्रीलंकाई तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा के मंगलवार को टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा के साथ क्रिकेट के तीनों प्रारूपों (वनडे, टेस्ट, टी-20) में उनके शानदार अंतरराष्ट्रीय करियर का अंत हो गया।

श्रीलंका के लिए 30 टेस्ट, 226 वनडे और 84 टी-20 मैच खेलने वाले और करियर में 546 विकेट लेने वाले मलिंगा ने सोशल मीडिया पर संन्यास की घोषणा की। मलिंगा ने एक ट्वीट में कहा कि टी-20 करियर के अंत की घोषणा के साथ क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले रहा हूं। उन सभी का शुक्रिया जिन्होंने मेरी यात्रा में मेरा साथ दिया। आगामी वर्षों में युवा क्रिकेटरों के साथ अपने अनुभव को साझा करने के लिए उत्सुक हूं।

उल्लेखनीय है कि मलिंगा ने आखिरी बार मार्च 2020 में पल्लेकेले में वेस्ट इंडीज के खिलाफ श्रीलंका के लिए टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था। शानदार अंतरराष्ट्रीय करियर में मलिंगा ने श्रीलंकाई टीम का प्रतिनिधित्व करते हुए कुछ अविश्वसनीय ऊंचाइयों का छुआ।

बांग्लादेश में 2014 पुरुष टी-20 विश्व कप में शानदार गेंदबाजी प्रदर्शन की बदौलत उन्होंने अपनी टीम को गौरवान्वित किया था। खतरनाक यॉर्कर के लिए मशहूर मलिंगा 107 विकेटों के साथ टी-20 क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। दो टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों मलिंगा के नाम दो हैट्रिक भी हैं।

मलिंगा ने वनडे क्रिकेट में भी तीन हैट्रिक ली हैं। 2007 में वेस्ट इंडीज में विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मुकाबले उनका यह प्रदर्शन इतिहास के पन्नों में दर्ज है। समझा जाता है कि उन्होंने अपनी फिटनेस पर काम करने और खेल के छोटे प्रारूपों पर ध्यान केंद्रित करने के लिए 2011 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया था।