नाइजीरिया में लासा बुखार का प्रकोप, 40 की मौत

अबुजा। नाइजीरिया में जनवरी, 2022 में लासा वायरस के कारण होने वाली एक गंभीर बीमारी से चालीस लोगों की मौत हो गई है, जिसकी जानकारी नाइजीरिया सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (एनसीडीसी) ने अपनी नवीनतम रिपोर्ट में दी।

एनसीडीसी की सप्ताहिक स्थिति रिपोर्ट में शुक्रवार को बताया गया कि साल 2022 के पहले सप्ताह से लेकर आखिरी सप्ताह तक संचयी रूप से मामले में मृत्यु दर (सीएफआर) 19 प्रतिशत के साथ 40 मौतों की सूचना मिली है।

एनसीडीसी ने बीमारी के प्रति जवाबी कार्रवाई करते हुए इस सप्ताह राष्ट्रीय लासा बुखार आपातकालीन संचालन केंद्र को शुरू किया, जिसने 36 नाइजीरियाई राज्यों में से 14 को प्रभावित किया है। जनवरी के महीने में इस बीमारी के कुल 211 मामलों की पुष्टि हुई है। जिसमें अधिकतर मरीज 21 से 30 वर्ष के हैं।

लासा बुखार एक पशु जनित तीव्र गति से फैलने वाली बीमारी है, जो कि अधिकतर पश्चिम अफ्रीका में पाया जाता है। यह आमतौर पर चूहों द्वारा फैलती है, लेकिन संक्रमण पीड़ित व्यक्ति के शरीर के तरल पदार्थ के संपर्क में आने से हो सकता है।

इसके अधिकांश मरीजों में या तो लक्षण नहीं दिखते हैं या न के बराबर होते हैं। इसकी चपेट में गंभीर रूप से आने वाले मरीजों में सांस लेने में परेशानी, कंपकंपी, दिमाग में सूजन और बहु-अंग विफलता जैसे लक्षण दिखने शुरू हो जाते हैं जिससे मृत्यु हो जाती है। सभी मामलों में से एक तिहाई मामलों में सुनने की शक्ति पर भी प्रभाव पड़ा है।