लता मंगेशकर का निधन कई अंगों के काम न करने से हुई: डॉ. समदानी

मुंबई। स्वर सम्राज्ञी लता मंगेशकर का निधन रविवार सुबह हो गया। मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल के डॉ. प्रतीत समदानी उनका उपचार कर रहे थे। स्वर सम्राज्ञी का निधन उनके शरीर के कई अंगों के काम न करने से हुआ।

डॉ. समदानी ने खुलासा किया कि लता मंगेशकर जी का निधन कई अंगों के काम न करने के कारण हुआ। अत्यंत दु:ख के साथ सूचित किया जाता है कि स्वर सम्राज्ञी लता मंगेशकर जी का निधन आज सुबह 8:12 बजे हुआ।

उन्होंने कहा कि 28 दिनों से अधिक समय तक…भर्ती रहने के बाद उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था जिससे उनका निधन हुआ। भारत कोकिला काे जनवरी में कोविड-19 होने के बाद भर्ती कराया गया था।

डॉ. समदानी ने दी जानकारी भारत रत्न पुरस्कार विजेता को आठ जनवरी को निमोनिया और कोरोना वायरस से पीड़ित होने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

स्वर कोकिला मंगेशकर से कल उनके भाई-बहन हृदयनाथ मंगेशकर और आशा भोसले मिलने आए थे। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की पत्नी रश्मि, मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे, बॉलीवुड निर्देशक मधुर भंडारकर, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, भाजपा नेता एमपी लोढ़ा और अन्य ने भी अस्पताल का दौरा किया।

गौरतलब है कि स्वर कोकिला लता मंगेशकर का रविवार सुबह आठ बजकर 12 मिनट में यहां ब्रीच कैंडी अस्पताल में निधन हो गया। वह 92 वर्ष की थीं।

भारत रत्न, स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर पंच तत्व में विलीन

लता मंगेशकर के निधन से संगीत के एक युग का अंत