अपमान से निराश होकर बनाया मोर्चा : शिवपाल यादव

launched new party to protect my honour : Shivpal Yadav
launched new party to protect my honour : Shivpal Yadav

लखनऊ। नवगठित समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के संस्थापक शिवपाल सिंह यादव ने मंगलवार को कहा कि लगातार अपमान से निराश होकर उन्होने मोर्चा का गठन किया है जो अगले साल लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में अपनी ताकत का अहसास कराने के लिए तैयार है।

श्रीकृष्ण वाहिनी संस्था के राज्य सम्मेलन में शिरकत करने आए यादव ने अपने संबोधन में कहा कि हम तो सिर्फ सम्मान के भूखे हैं। हमने तो समाजवादी पार्टी में भी सिर्फ नेताजी (मुलायम सिंह यादव) तथा अपने लिए सम्मान मांगा था। अब हमारा कदम पीछे नहीं हटेगा। हमारे साथ काफी लोग आ गए हैं, पूर्व मंत्री कमाल यूसुफ के साथ पूर्व सांसद रघुराज सिंह शाक्य भी हमारे साथ हैं। हम बड़ा कदम बढ़ा रहे हैं।

सपा में वापसी की सभी संभावनाओं को नकारते हुए उन्होने साफ कहा कि अब वह शीघ्र ही राष्ट्रीय और प्रदेश कार्यकारिणी का गठन करेंगे। उन्होंने कहा कि उन्हें कभी पद की लालसा नहीं रही। यही कारण रहा कि लंबे संघर्ष के बाद 1994 में उन्हें तब विधायक बनने का मौका मिला, जब नेताजी मुलायम सिंह केंद्र की राजनीति करने लगे।

उन्होंने कहा कि आजकल लोग तुरंत बड़ा पद चाहते हैं। समाजवादी सेक्युलर मोर्चे के गठन में इन बातों का ध्यान रखा जाएगा। मोर्चा अगले लोकसभा चुनाव में अपने 80 प्रत्याशी उतारेगा। इसके लिए योजना बनाई जा रही है। इस चुनाव में मोर्चा अपनी ताकत का अहसास कराएगा।

इससे पहले राज्य सम्मेलन में बडी तादाद में आए समर्थकों की हिस्सेदारी से यादव गदगद दिखे। सम्मेलन के दौरान शिवपाल के समर्थन में जमकर नारेबाजी हुई। सम्मेलन को पूर्व मंत्री कमाल यूसुफ और पूर्व सांसद रामसिंह ने भी संबोधित किया। उन्होंने शिवपाल सिंह को समाजवादी संघर्ष का नेता बताया।

उन्होंने कहा कि जिस तरह से भगवान राम ने 14 साल का वनवास काटा है ठीक उसी तरह से शिवपाल ने डेढ़ साल का वनवास काटा है। अगले चुनाव मे बता दिया जाएगा कि यूपी का नौजवान अखिलेश के साथ नहीं बल्कि शिवपाल यादव के साथ है।

राज्य सम्मेलन में शिवपाल सिंह यादव के समाजवादी आंदोलन में उनके जीवन संघर्षों को लेकर उनके ऊपर लिखे गीत गाए गए। सपा सांस्कृतिक दल के पूर्व अध्यक्ष डीएन यादव ने उन्हें अपने गीत में 2022 में उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री तक बता दिया। आज पूरे कार्यक्रम मे खासकर शिवपाल यादव के भाषण के दौरान कार्यकर्ताओं ने अपने नेता को लेकर नारे लगाने शुरू कर दिये और कहा कि चाचा तुम संघर्ष करो हम तुम्हारे साथ है।

श्रीकृष्ण वाहिनी के अध्यक्ष विजय यादव ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में तेजी से बदलते राजनीतिक और सामाजिक परिस्थितियों को ध्यान मे रखते हुए शार्ट नोटिस पर यह सम्मेलन बुलाया गया। जिसमे भगवान श्रीकृष्ण के आदर्शों के अनुरूप ही अन्याय की लड़ाई लड़ रहे शिवपाल सिंह यादव को श्रीकृष्ण वाहिनी ने अपना पूरा समर्थन देने का निर्णय लिया है।