फर्जी डिग्री वाले 16 पायलट और विमान चालक दल के 65 सदस्य निलंबित घोषित

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के सुप्रीमकोर्ट ने बुधवार को फर्जी प्रमाणपत्रों के आधार पर पायलट की नौकरी हासिल करने वाले 16 पायलटों के लाइसेंस और विमान चालक दल के 65 सदस्यों को निलंबित घोषित कर दिया।

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश मियां साकिब निसार की अगुआई वाली तीन सदस्यीय पीठ पायलटों और विमान चालक दल के सदस्यों की डिग्रियों के सत्यापन से संबंधित मामले की सुनवाई कर रही है। मुख्य न्यायाधीश के संज्ञान में फर्जी डिग्री वाले पायलटों की कथित नियुक्ति का मामला आया था।

जियो टेलीविजन के अनुसार मामले की सुनवाई के दौरान नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (सीएए) ने कोर्ट को बताया कि छह डिग्रियों को छोड़कर अन्य सभी के प्रमाणपत्रों का सत्यापन कर लिया गया है। छह डिग्रीधारकों के विदेशों में होने के कारण इनका सत्यापन नहीं किया जा सका है।

सीएए के वकील ने न्यायालय को बताया कि 16 पायलटों और विमान चालक दल के 65 सदस्यों की डिग्रियां फर्जी पाई गईं और उनके लाइसेंस निलंबित कर दिए गए। इस पर मुख्य न्यायाधीश ने टिप्पणी की कि ऐसा लगता है कि न्यायालय के आदेश पर जल्दी कार्रवाई की गई।