ले. जनरल नरवाणे ने किया 28वें सेना प्रमुख का कार्यभार ग्रहण

lieutenant General Narwane took over as 28th Army Chief
lieutenant General Narwane took over as 28th Army Chief

नई दिल्ली। जनरल मनोज मुकुंद नरवाणे ने मंगलवार को 28वें सेनाध्यक्ष का पदभार ग्रहण कर लिया। जनरल नरवाणे ने जनरल बिपिन रावत की जगह ली है जो आज सेवानिवृत्त हो रहे हैं। जनरल रावत सेना प्रमुख के पद से सेवानिवृत्त होने के बाद आज ही पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) के रूप में नयी जिम्मेदारी संभालेंगे।

उन्होंने सुबह गार्ड ऑफ ऑनर के बाद कहा, “मुझे पूरा विश्वास है कि वह (जनरल नरवाणे) सेना को नयी ऊंचाइयों तक ले जाएंगे।”

जनरल नरवाणे काे सितंबर में सेना का उप-प्रमुख नियुक्त किया गया था। इससे पहले वह पहले सेना की पूर्वी कमान का नेतृत्व कर रहे थे, जो चीन के साथ लगती भारत की लगभग 4,000 किलोमीटर सीमा की सुरक्षा करती है।

जनरल नरवाणे राष्ट्रीय रक्षा अकादमी और भारतीय सैन्य अकादमी के पूर्व छात्र हैं। उन्हें जून 1980 में सिख लाइट इन्फैंट्री रेजिमेंट की सातवीं बटालियन में कमीशन मिला था।

उन्होंने अपने 37 वर्षों के कार्यकाल में जम्मू-कश्मीर और पूर्वोत्तर में शांतिकाल और अत्यधिक सक्रिय आतंकवाद रोधी वातावरण में कई कमांड और स्टाफ नियुक्तियों के लिए काम किया है।

उन्होंने जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रीय राइफल्स बटालियन और पूर्वी मोर्चे पर एक पैदल सेना ब्रिगेड की कमान भी संभाली है।

जम्मू और कश्मीर में अपनी बटालियन की कमान प्रभावी ढंग से संभालने के लिए जनरल नरवाणे को ‘सेना मेडल’ (विशिष्ट) से सम्मानित किया गया था।

उन्हें नागालैंड में असम राइफल्स (उत्तर) के महानिरीक्षक के रूप में अपनी सेवाओं के लिए ‘विशिष्ट सेवा पदक’ और प्रतिष्ठित स्ट्राइक कोर की कमान संभालने के लिए ‘अति विशिष्ट सेवा पदक’से भी नवाजा जा चुका है।

शेयर करें