live : पिंक सिटी में पीएम मोदी, राजे का कांग्रेस पर हमला

live : pm modi jaipur visit, pm modi interact with beneficiaries of various welfare schemes in jaipur
live : pm modi jaipur visit, pm modi interact with beneficiaries of various welfare schemes in jaipur

जयपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विकास को अपनी सरकार का एक मात्र एजेंडा बताते हुए कहा कि पांच करोड़ लोगों को गरीबी से निकाला जा चुका है तथा 2022 तक किसानों की आय दुगनी करने के लक्ष्य पर सरकार काम कर रही है।

मोदी ने किसानों की फसल का समर्थन मूल्य में डेढ गुणी से ज्यादा वृद्धि करने के फैसले के बाद राजस्थान में अपनी पहली सभा में सरकारी योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार किसानों के हित के लिए बीज की खरीद से फसल की बिक्री तक का प्रबंध करने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि फसल की लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य करने से किसानों को काफी फायदा हुआ है। खरीद प्रक्रिया को प्रभावी बनाने के लिए राज्य सरकारों को निर्देश दिए गए है।

राजस्थान सरकार समर्थन मूल्य पर ग्यारह हजार करोड़ रुपए की खरीद कर चुकी है। उन्होंने कांग्रेस का नाम लिए बगैर कहा कि सरकार की नीतियों का विरोध करने वाली कुछ पार्टियां बे गाडी हो गई और उनके कई दिग्गज नेता और मंत्री जमानत पर हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने गरीबी हटाने के नाम पर 70 साल तक देश पर राज किया लेकिन कांग्रेस अपने ही समुदाय और परिवार में सिमट कर रह गई है।

मोदी ने विरोधी दलों द्वारा सेना की क्षमता और उसके सर्मपण पर उठाए जाने वाले सवालों को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि इन पार्टियों और नेताओं ने देश के स्वाभिमान के लिए सर्वस्व लुटाने वालेे जवानों और सेना का अपमान कर महापाप किया है। उन्होंने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार ने वर्षो से लंबित सैनिकों के वन रेंक वन पेंशन मामले को लागू कर सैनिकों की मांग पूरी की है।

उन्होंने अपने विरोधियों पर चुटकी लेते हुए कहा कि देश में एक वर्ग ऐसा है जिसे मोदी एवं भाजपा से हमेशा से ही नफरत रही है और वह सरकार की योजनाओं और कार्यक्रमों को सफल नहीं देखना चाहते, लेकिन राजस्थान के अलग अलग शहरों से आए इन लाभार्थियों ने यह साबित कर दिया है कि सरकार की योजनाएं प्रभावी है और इन योजनाओं से उनके जीवन में बेहतर बदलाव आया है।

उन्होंने कहा कि केन्द्र और भाजपा शासित राज्य सरकार द्वारा संचालित की जा रही योजनाओं से लाभांवित हुए ऐसे लाभार्थियों से ही और लोगों को प्रेरणा मिलेगी और यही लोग इन योजनाओं के प्रचार प्रसार में सहभागी बनेंगे। इससे अन्य लोगों को भी आगे बढने की जागरूकता पैदा होगी।

मोदी ने अपने चार साल के कार्यकाल का जिक्र करते हुए कहा कि केन्द्र द्वारा संचालित की गई योजनाओं और आम लोगों की भागीदारी ने यह साबित कर दिया है कि उनके नेतृत्व में चल रही सरकार जन आंकाक्षाओं पर खरी उतरी है और आम लोगों का भी सरकार के प्रति विश्वास बढा है।

उन्होंने कहा कि केन्द्र और राज्य की भाजपा सरकार की नीति न तो अटकाने की और न लटकाने की रही है और यही वजह है कि उसने समाज के सभी वर्गो के लिए त्वरित फैसले लेकर देश के हर क्षेत्र, हर वर्ग के उत्थान के लिये पूरी क्षमता के साथ काम किया है।

मोदी ने अपने चालीस मिनट के भाषण में सर्वाधिक जोर किसानों की माली हालत को सुधारने पर देते हुए कहा कि सरकार द्वारा पहली बार समर्थन मूल्य पर खरीद मूल्य बढाकर डेढगुणा से अधिक किया गया है। सरकार की मशा है कि आगामी 2022 तक किसानों की फसल का लागत मूल्य दो गुणा हो जाए और इस दिशा में सरकार प्रतिबद्ध है।

मोदी मोदी के नारों के बीच प्रधानमंत्री ने कहा कि राजस्थान ने सदैव चुनौतियों से मुकाबला करना सीखा है और वह हर चुनौती का मुकाबला करना जानता है। उन्होंने राजस्थान को शोर्य, भक्ति, आध्यात्मक और बलिदान की भूमि बताते हुए कहा कि यहां की धरती ने परमवीर विजेता पीरू सिंह शेखावत जैसे सपूत दिए हैं। उन्होंने कहा कि राजस्थान ने सदैव अपनी संस्कृति और विरासत से अनूठी पहचान कायम की है।

उन्होंने अपने विकास पुरूष की छवि को कायम रखते हुए सबका साथ और सबका विकास के मंत्र को दोहराते हुए कहा कि केन्द्र ने देश के 100 शहरों को स्मार्टसिटी बनाने की योजना शुरू की है जिसमें जयपुर अजमेर सहित कई शहरों को शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने इस योजना के लिए राजस्थान के लिए सात हजार करोड रूपए स्वीकृत किए हैं।

मोदी ने एक विदेशी रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि देश में गत दो साल में पांच करोड़ लोग गरीबी से मुक्त हुए हैं। उन्होंने कहा कि इसका मुख्य कारण सरकार की साफ और स्पष्ट नीति के साथ ही जनता के प्रति अपनी जिम्मेदारी की भावना रही है।

उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने राजस्थान से ही मुद्रा कार्ड योजना की शुरूआत की थी और इसके तहत पूरे देश में साढे चौदह करोड़ से अधिक किसानों को कार्ड दिए गए है। अकेले राजस्थान में ही ढाई करोड़ किसानों को मुद्रा कार्ड दिए गए हैं।

इससे पूर्व प्रधानमंत्री ने केन्द्र और राज्य सरकार की ओर से चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के कारण लाभावितों के जीवन में आए बदलाव और अनुभवों के संबंध में प्रस्तुतीकरण को देखा और 13 लाभार्थियों से व्यक्तिगत रूप से मिलकर उनके साथ फोटो खिंचवाई। मोदी ने सभा में जोधपुर, जैसलमेर सहित कई शहरों से आए किसानों के साथ भी फोटों खिंचवाई।

कांग्रेस पर बरसी वसुंधरा राजे

इससे पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने लाभार्थियों के साथ प्रधानमंत्री के जनसंवाद कार्यक्रम की शुरूआत करते हुए कांग्रेस पर कटाक्ष किया कि तत्कालीन सरकार द्वारा गरीबों के आवास के लिए चलाई गई इंदिरा आवास योजना के नाम पर लोगों से वसूली की जाती थी और चुनाव के समय आवास आवंटन का नाटक किया जाता था।

इसी तरह कांग्रेस सरकार द्वारा गरीबों को रोजगार देने के नाम पर आबादी से बाहर दुकानों का आवंटित किया जाता था जिसका लाभ लाभार्थियों को नहीं मिल पाता था।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकारों ने पूरी पारदर्शिता के साथ योजनाओं को क्रियान्वित किया जिसके कारण आम जनता को इनका लाभ मिला। उन्होंने दोहराया कि राज्य की भाजपा सरकार ने सेवा धर्म और आम जनता की खुशहाली के ध्येय को लेकर ही योजनाओं का क्रियान्वयन किया।

राजे ने कहा कि कांग्रेस ने गरीबों को सत्ता का जरिया बनाया। बीते 70 साल में कुछ नहीं किया। जबकि हमने सरकारी योजनाओं का गरीबों को लाभ पहुंचाया। योजनाओं को धरातल पर उतारा, गांव ढाणी तक योजनाओं का लाभ पहुंचा। जनता का पैसा जनता के लिए खर्च किया। हमारी जनता हमारा परिवार है। हमने भेदभाव की नीति नहीं अपनाई, सबको समान समझा। हमने दिन रात एक करके प्रदेश की जनता की सेवा की। इसी का परिणाम है कि हमारी योजनाओं के लाभार्थी पूरे राजस्थान में हैं।

तेरह शहरी परियोजनाओं की आधारशिला

मोदी इस दौरान कार्यक्रम स्थल पर ही 2100 करोड़ रुपए से अधिक लागत की तेरह शहरी परियोजनाओं की आधारशिला रखी। प्रधानमंत्री जिन परियोजनाओं की आधारशिला रखी उनमें पुराने उदयपुर के लिए एकीकृत संरचना पैकेज, अजमेर के लिए एलिवेटेड रोड परियोजना, अजमेर, भीलवाड़ा, बीकानेर, हनूमानगढ़, सीकर तथा माउंट आबू में जलापूर्ति तथा सीवरेज परियोजनाएं, धौलपुर, नागौर, अलवर, तथा जोधपुर में एसटीपी का उन्नयन, बूंदी, अजमेर और बीकानेर जिले में प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अंतर्गत परियोजनाएं एवं दशहरा मैदान(चरण-दो) कोटा प्रमुख हैं।

मैदान(चरण-दो) कोटा प्रमुख हैं।