लॉकडाउन : डाक विभाग घर बैंठे ग्राहकों तक पहुंचाएगा बैंक खाते से भुगतान

अजमेर। कोरोना वायरस (कोविड 19) के प्रसार को रोकने के लिए देशव्यापी लॉक डाउन में डाक विभाग ने जरूरतमंद लोगों को बड़ी राहत देते हुए बैंक से 10 हजार रुपए तक की राशि का भुगतान अब उनके घर के दरवाजे पर पहुंचाना शुरू कर दिया है। विभाग अब तक 168 ग्राहकों को 4 लाख 30 हजार 4 सौ रुपए का भुगतान कर चुका है।

प्रवर अधीक्षक (डाक) पवन कुमार शर्मा ने बताया कि यह सुविधा उन लोगों को भी प्रदान की जा रही है, जिनके खाते डाकघर में नहीं होकर अन्य बैंकों में हैं। आधार इनबेल्ड पेमेंट सिस्टम यानी ईपीएस के जरिए डाक विभाग लोगों को यह सुविधा उपलब्ध करा रहा है।

कैसे ले सकते हैं सुविधा का लाभ

शर्मा ने बताया कि इसके लिए ग्राहक को अपने क्षेत्र में आने वाले पोस्टमैन से संपर्क कर उसे अपना आधार लिंक बैंक खाते का संबर उसे देना होगा। उसके बाद पोस्टमैन मौके पर ही बायोमेट्रिक मशीन पर ग्राहक का अंगूठा लगवाकर 10 हजार रुपए तक का भुगतान कर देगा। इसके लिए खाताधारक से कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जा रहा है साथ ही संबंधित बैंक भी इस ट्रांजेक्शन के लिए कोई कटौती नहीं करेंगे।

यह सुविधा उन लोगों के लिए अधिक फायदेमंद है जिनकी वृद्धावस्था या पेंशन व सब्सिडी बैंक में आती है औश्र वह इसे लेने के लिए बैंक नहीं जा पा रहे। यानी कोई भी व्यक्ति अपने घर में डाकघर बैंक में जमा रकम का तुरंत भुगतान निःशुल्क प्राप्त कर सकता है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना, किसान सम्मान निधि के तहत आए सब्सिडी समेत अन्य तरह की सब्सिडी नि:शुल्क प्राप्त की जा सकती है।