संयम लोढ़ा और नीरज डांगी के विश्वस्तों में हुई तकरार, लगा मजमा

clash between congress leader in aburoad during acb investigation
clash between congress leader in aburoad during acb investigation

सबगुरु न्यूज-आबूरोड। पूर्व विधायक संयम लोढ़ा और कांग्रेस प्रदेश सचिव नीरज डांगी के करीबी मंगलवार को आबूरोड की सड़कों पर उलझ पडे़। आबूरोड नगर पालिका में चार साल बनी एक सड़क की एसीबी द्वारा जांच के दौरान प्रदेश कांग्रेस प्रतिनिधि तथा आबूरोड ब्लाॅक कांग्रेस अध्यक्ष एक दूसरे से उलझ पड़े। इस विवाद को देखते हुए जांच के लिए आई एसीबी की टीम को लौटना पड़ा।

नगर पालिका द्वारा वार्ड नंबर 10 वह वार्ड नंबर 11 में आजाद मैदान व पत्थर गली में सीमेंट सड़क निर्माण का कार्य करवाया गया था। निर्माण कार्य पूर्ण होने के बाद कार्य की गुणवत्ता व निर्माण के समय को लेकर शिकायत हुई। शिकायत एसीबी तक जा पहुंची। एसीबी ने वार्ड 10 व 11 मैं बनी सीमेंट सड़क की जांच पड़ताल प्रारंभ की। लेकिन, नतीजा कोई नहीं निकल पाया।

जांच लंबित होने के कारण मंगलवार को तीसरी बार एसीबी की टीम क्वालिटी कंट्रोल सार्वजनिक निर्माण विभाग की संयुक्त टीम आबूरोड पहुंची। इस सीमेंट सड़क की जांच पड़ताल करने पहुंची एसीबी टीम सड़क का नापजोख कर रही थी। इसी वक्त प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य अमित जोशी मौके पर पहुंचे। उन्होंने नापजोख पर एतराज व्यक्त करते हुए पत्थर गली से आगे जैन भोजनशाला की तरफ किए गए नापजोख को गलत बताया। उनके अनुसार सड़क वहां तक नहीं बनी थी।

इस पर मौके पर मौजूद ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रशीद कायमखानी वह उसके परिजनों ने जोशी द्वारा किए जा रहे विवाद पर रोष प्रकट करते हुए कहा कि जोशी जानबूझकर जांच टीम को गुमराह कर रहे हैं। सड़क का निर्माण जैन भोजनशाला की ओर जाने वाली सड़क में काफी आगे तक हुआ था। इस पर जोशी वह ब्लॉक अध्यक्ष रसीद के परिजन उलझ गए। मामला हाथापाई तक जा पहुंचा। मौके पर मौजूद अधिकारियों को बीच बचाव में आना पड़ा।

विवाद बढ़ता देख अधिकारियों ने जांच को बीच में ही रोक दिया। नगर पालिका अधिशासी अधिकारी को इस बारे में पत्र लिखकर नई कमेटी का गठन करने और मौके पर बुलाने का निर्णय किया गया। ताकि मौके की वस्तुस्थिति से पालिका के तकनीकी अधिकारी जांच टीम को अवगत करा सके।

जांच के दौरान निर्माण की गुणवत्ता के लिए सड़क को कोर कटर मशीन से काटकर सेंपल भी लिया गया। मौके पर उपस्थित लोगों का यह भी आरोप था कि जिस सड़क की जांच की जा रही है उस सड़क पर दूसरी बार निर्माण हो चुका है ऐसे में विवादित सड़क की जांच स्पष्ट तौर से नहीं हो पाएगी।
उल्लेखनीय है कि ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष रशीद खान के परिवार के सदस्यों के नाम से नगर पालिका में पंजीकृत फर्म है। इसी फॉर्म द्वारा वार्ड 10 व 11 में निर्माण कार्य करवाया गया था। जिसकी बाद में एसीबी को शिकायत हुई थी। वार्ड नंबर 10 व 11 के सड़क निर्माण में अनियमितता होने की शिकायत तत्कालीन वार्ड पार्षद कमलेश सोलंकी द्वारा एसीबी को की गई थी।

जिस पर प्राथमिक जांच के बाद एसीबी ने 3 मई 2016 को गौरान कंस्ट्रक्शन के प्रोप्राइटर याकूब कायमखानी नगर पालिका के अधिशासी अभियंता के विरुद्ध मुकदमा संख्या 88/ 16 दर्ज किया था जिसकी जांच चल रही है।

उल्लेखनीय है कि राशीद खान को सिरोही कांग्रेस जिला अध्यक्ष जीवाराम आर्य ने आबूरोड ब्लाॅक कांगे्रस का अध्यक्ष बनाया है। यह संयम लोढ़ा के गुट के बताए जाते हैं। वहीं राशिद खान को ब्लाॅक अध्यक्ष बनाए जाने का विरोध करने वाले अमित जोशी को नीरज डांगी के गुट का बताया जाता है।